‘चुनाव के बाद गठबंधन को माना जाए अवैध’

  • ‘चुनाव के बाद गठबंधन को माना जाए अवैध’
You Are HereNational
Thursday, March 27, 2014-11:58 AM

नई दिल्ली : दिल्ली उच्च न्यायालय में एक याचिका दायर कर मांग की गई है कि चुनाव के बाद पाॢटयों द्वारा किए जाने वाले गठबंधन को असंवैधानिक करार दिया जाए। कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश बी.डी.अहमद व न्यायमूर्ति सिद्धार्थ मृदुल की खंडपीठ ने इस याचिका पर सुनवाई के लिए 20 मई की तारीख तय की है।


याचिका में मांग की गई है कि चुनाव आयोग को निर्देश दिया जाए कि वह उम्मीदवारों से कहे कि चुनाव से पहले ही वह अपने मतदाताओं को बताएं कि चुनाव के बाद वह किसके साथ मिलकर सरकार बनाने वाले हैं।


अधिवक्ता मिथलेश कुमार पांडेय की तरफ से दायर याचिका में कहा गया है कि अक्सर चुनाव के बाद उम्मीदवार किसी भी दल के साथ मिलकर सरकार बना लेते हैं, जो कि जनता के साथ धोखा है। जिन पाॢटयों की बुराई करके या विरोध करके वोट मांगा जाता है, उन्हीं के साथ मिलकर सरकार बनाना सरासर गलत है। इस तरह के गठबंधन से भ्रष्टाचार पैदा होता है। याचिका में मांग की गई है कि चुनाव के बाद होने वाले गठबंधन को असंवैधानिक करार दे दिया जाए।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You