पृथ्वी ‘द्वितीय’ के सफल परीक्षण से और ताकतवर हुआ भारत

  • पृथ्वी ‘द्वितीय’ के सफल परीक्षण से और ताकतवर हुआ भारत
You Are HereNational
Friday, March 28, 2014-1:20 PM

बालासोर: सतह से सतह तक मार करने वाले मध्यम दूरी के प्रक्षेपा पृथ्वी ‘द्वितीय’ का आज चांदीपुर के इंटीग्रेटिड टेस्ट रेंज में समुद्र पर सफलता पूर्वक परीक्षण किया गया। रक्षा सूत्रों ने यहां बताया कि पृथ्वी मिसाइल को रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन ने पूर्ण रूप से स्वदेश में विकसित किया है। यह परीक्षण सुबह नौ बजकर 45 मिनट पर किया गया। लगभग 350 किलोमीटर तक मार करने वाली पृथ्वी ‘द्वितीय’ ने सफलतापूर्वक अपने लक्ष्य को भेदा।

सूत्रों ने बताया कि पृथ्वी ‘द्वितीय’ युद्धकाल में महत्वपूर्ण साबित होगी। यह 350 किलोमीटर तक 500 किलोग्राम मुखा ले जाने में सक्षम है। इसकी  वजन क्षमता को 1000 किलोग्राम तक बढाया जा सकता है। इंटीग्रेटिड गाइडेड मिसाइल डेवलपमेंट प्रोग्राम के विकसित की जा रही पांच मिसाइलों में से पृथ्वी महत्वपूर्ण मिसाइल है। पृथ्वी ‘द्वितीय’ के परीक्षण के मौके पर कई वरिष्ठ वैज्ञानिक और अधिकारी मौजूद थे।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You