मुलायम की धड़कनें हुईं तेज, ओलमा कौंसिल के अध्यक्ष चुनाव मैदान में

  • मुलायम की धड़कनें हुईं तेज, ओलमा कौंसिल के अध्यक्ष चुनाव मैदान में
You Are HereUttar Pradesh
Saturday, March 29, 2014-12:36 PM

लखनऊ: समाजवादी पार्टी अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव के खिलाफ आजमगढ़ संसदीय क्षेत्र से राष्ट्रीय ओलमा कौंसिल के अध्यक्ष मौलाना आमिर रशादी मदनी चुनाव लड़ेगें। मौलाना रशादी ने आज यहां (यूनीवार्ता) को बताया कि उन्होंने यादव के खिलाफ आजमगढ़ से नामांकन दाखिल करने का फैसला किया है। उन्होंने बताया कि ओलमा कौंसिल ने यह निर्णय बहुत ही सोच समझ कर लिया। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि दो दिन पहले उच्चतम न्यायालय की टिप्पणी ने यह साबित कर दिया कि यादव और उनकी सरकार कितनी धर्मनिरपेक्ष है।

पूर्व मुख्यमंत्री कल्याण सिंह जब यादव के साथ रहे तो वह धर्म निरपेक्ष है और जब उनके साथ नहीं रहें तो साम्प्रदायिक हो जाते हैं। सपा अध्यक्ष से नाराज दिख रहे मौलाना रशादी ने शेर सुनाया तेरी चाहत में ऐ मुलायम दर बदर हो गये, अपनी हस्ती से बेखबर हो गये, तुम संवर कर सनम सैफई हो गये हम उजड़कर मुजफ्फरनगर हो गये।

उन्होंने कहा कि सपा सरकार की दो साल की कार्यशैली से स्पष्ट हो गया है कि यादव और उनकी पार्टी कितनी धर्मनिरपेक्ष है। पूर्वांचल के कुछ जिलों में उलमा कौंसिल की मुसलमानों में पैठ मानी जाती है। 2009 के लोकसभा चुनाव में कौंसिल ने लखनऊ, कानपुर, आजमगढ, जौनपुर, मछलीशहर, लालगंज और अम्बेडकरनगर संसदीय क्षेत्रों में चुनाव लड़ा था।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You