3 साल से राधे मां की आराधना कर रहे परिवार ने की आत्महत्या!

  • 3 साल से राधे मां की आराधना कर रहे परिवार ने की आत्महत्या!
You Are HereGujrat
Saturday, March 29, 2014-3:48 PM

अहमदाबाद: राधे मां के एक भक्त द्वारा अपने परिवार के सात लोगों के साथ आत्महत्या करने का मामला सामने आया है। यह घटना गुजरात के कच्छ क्षेत्र के अंजार जिले की है। आत्महत्या करने वाले परिवार के मुखिया ने पहले अपने तीन बच्चों को जहर देकर मारा फिर चार अन्य लोगों ने फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली।

पुलिस सूत्रों के मुताबिक आत्महत्या करने वाले एक ही परिवार के हैं। घटना के समय दो बेटियां 15 साल की पायल और 7 साल की सोनल स्कूल गई थी। 32 साल का राधू पत्नी लक्ष्मी और 30 साल का लाखू पत्नी कांकू बेन के साथ एक ही घर में रहते थे। राधू और लाखू सगे भाई थे। इस परिवार में दो भाई, उनकी पत्नियां, और उनके पांच बच्चे थे। चारों राधे मां के भक्त थे। सभी के शव घर में फंसे से लटके हुए पाए गए।

रिश्तेदारों और पड़ोसियों ने पुलिस को बताया कि परिवार भगवान कृष्ण का भक्त था। सामान्यतया पूरा परिवार सुबह-सुबह भजन सुनता था लेकिन बुधवार को जब भजन सुनाई नहीं दिए तो पड़ोसियों ने परिवार से संपर्क करने की कोशिश की। जब संपर्क नहीं हुआ तो पड़ोसियों ने पुलिस को बुला लिया। पुलिस ने घर का दरवाजा तोड़ा तो चारों को फंखे से लटका हुआ पाया। राधू और लाखू और उनकी बीवियों ने 4 साल के शाश्वत लाखू, 5 साल की प्राची लाखू और 7 साल के श्याम को जहर देकर मारा डाला।

वहीं पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार तीनों बच्चों को जहर पिलाया गया था, जबकि अन्य चारों की मौत दम घुटने से हुई थी। पुलिस जांच के अनुसार यह परिवार करीब 3 साल से राधे मां की आराधना कर रहा है। इतना ही नहीं, बरसाना स्थित राधे मां के आश्रम में दान देने के लिए अपनी इस परिवार ने अपनी पुश्तैनी जमीन भी डेढ करोड रूपए में बेच दी थी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You