<

एम.बी.ए. छात्र बना ड्रग तस्कर,गिरफ्तार

  • एम.बी.ए. छात्र बना ड्रग तस्कर,गिरफ्तार
You Are HereNational
Sunday, March 30, 2014-1:35 PM
नई दिल्ली : दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने एक तस्कर को गिरफ्तार कर  इंटरनैशनल ड्रग सप्लायर मॉड्यूल का भंडाफोड़  किया है। गिरफ्तार आरोपी की पहचान हैदराबाद निवासी सोमा शेखर अनुमुल्लागुंडन (32) के रूप में हुई है। वह आई.एस.बी.एम. से एम.बी.ए. कर चुका है, लेकिन पैसे की जरूरत के कारण वह ड्रग सप्लाई के धंधे में शामिल होगया। पुलिस आगे की कार्रवाई कर  रही है। 
 
अपराध शाखा के एडिशनल सी.पी. रविन्द्र यादव के मुताबिक  गिरफ्तार आरोपी इंटरनैशनल मॉड्यूल से जुड़ा हुआ है। इस गिरोह के तार पाकिस्तान, अफगानिस्तान, श्रीलंका, जम्मू-कश्मीर और खाड़ी देशों से जुड़े हुए हैं। पुलिस ने शेखर के पास से करीब 8 किलो उच्च क्वालिटी की हेरोइन बरामद की है। बरामद हेरोइन की अंतर्राष्ट्रीय बाजार  में कीमत करीब 25 करोड़ रुपए                   आंकी गई है। पुलिस ने इस मॉड्यूल से अब तक करीब 29 किलो हेरोइन बरामद की है, जिसकी कीमत बाजार में 100 करोड़ रुपए आंकी गई है। 
 
उन्होंने बताया कि शेखर को निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन के पास से गिरफ्तार किया गया। उसने हैदराबाद स्थित इंडियन स्कूल ऑफ बिजनैस मैनेजमैंट से 2006-07 में एम.बी.ए. किया था। उसके बाद सुंदर रेड्डी नाम के साथी के साथ कंस्ट्रक्शन का काम शुरू किया, लेकिन बिजनैस में घाटा हो गया। फिर कीमती पत्थरों का बिजनैस शुरू किया, लेकिन यह भी धंधा मंदा रहा। 2008 में उसे बहुत ही आर्थिक समस्या का सामना करना पड़ा। 
 
इस दौरान उसकी पहचान कुवैत में रहने वाले एन.आर.आई. रजनी से हुई। जनवरी 2014 में रजनी व शेखर हैदराबाद में मिले। रजनी ने उसे श्रीनगर से एक किलो ड्रग्स लाने पर एक लाख देने का लालच दिया। आर्थिक परेशानी व जरूरत के कारण वह मान गया। 10 दिन पहले ही वह 2 किलो हेरोइन श्रीनगर से लेकर आया था। 
 
सप्लाई के बाद उसका आत्मविश्वास बढ़ गया। उसके बाद दोबारा वह श्रीनगर से 8 किलो हेरोइन लेकर जम्मू से दिल्ली ट्रेन पकड़कर आ रहा था लेकिन 26 मार्च को गाजियाबाद उतर गया और वहां से लोकल ट्रेन पकड़ दिल्ली आ गया। 27 मार्च को वह निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन जा रहा था तभी पुलिस ने उसे दबोच लिया। 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You