'मुलायम मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ें तो समर्थन करेगी उलमा काउंसिल'

  • 'मुलायम मोदी के खिलाफ चुनाव लड़ें तो समर्थन करेगी उलमा काउंसिल'
You Are HereNational
Sunday, March 30, 2014-5:16 PM

लखनउ: माजवादी पार्टी (सपा) प्रमुख मुलायम सिंह यादव को आजमगढ़ लोकसभा सीट से चुनौती देने उतरे राष्ट्रीय उलमा काउंसिल के अध्यक्ष मौलाना आमिर रशादी ने यादव को उत्तर प्रदेश का नरेंद्र मोदी करार देते हुए आज कहा कि इन दोनों के बीच कोई फर्क नहीं है। मुलायम मोदी को वाकई रोकना चाहते हैं तो वह उनके खिलाफ वाराणसी सीट से चुनाव लड़ें। ऐसे में उलमा काउंसिल सपा प्रमुख का समर्थन करेगी।

रशादी ने ‘भाषा’ से बातचीत में कहा ‘‘गुजरात के मोदी नरेन्द्र मोदी हैं तो उत्तर प्रदेश के मोदी मुलायम सिंह यादव हैं। कहा जा रहा है कि मुलायम मोदी को रोकने के लिये आजमगढ़ से चुनाव लड़ रहे हैं। अगर यह सही है तो वह मोदी के खिलाफ वाराणसी से सीधी टक्कर क्यों नहीं लेते।’’ उन्होंने कहा कि मोदी तो बनारस से लड़ रहे हैं।

मुलायम को वहां से लडना चाहिए। अगर वह मोदी के मुकाबले लड़ते हैं तो उलमा काउंसिल उनका समर्थन करेेगी। हम उनका समर्थन करेंगे। मोदी आजमगढ़ से तो लड़ नहीं रहे हैं, तो फिर मुलायम आजमगढ़ से चुनाव क्यों लड़ रहे हैं।  रशादी ने कहा ‘‘सपा ने वर्ष 2009 के पिछले लोकसभा चुनाव में गाजियाबाद से भाजपा नेता राजनाथ सिंह के खिलाफ उम्मीदवार नहीं उतारा था। हमारे लिए मुलायम और भाजपा में कोई फर्क नहीं है।’’ उन्होंने कहा कि मोदी ने गुजरात में दंगे कराए और उसके पीड़ितों को उनके हाल पर छोड़ दिया। ठीक वैसा ही मुलायम की पार्टी की सरकार ने मुजफ्फरनगर के साथ किया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You