भारत के आर्थिक विकास के लिए मोदी एकमात्र उम्मीद: स्मृति ईरानी

  • भारत के आर्थिक विकास के लिए मोदी एकमात्र उम्मीद: स्मृति ईरानी
You Are HereNational
Sunday, March 30, 2014-5:34 PM

अहमदाबाद: संप्रग सरकार पर आर्थिक कुप्रबंधन का आरोप लगाते हुए भाजपा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष स्मृति ईरानी ने आज दावा किया कि केंद्र में नरेंद्र मोदी की सरकार के सत्ता में आने पर इसे वापस पटरी पर लाया जाएगा। उन्होंने यहां संवाददाताओं से कहा कि अटल बिजारी वाजपेयी सरकार के दौरान आर्थिक क्षेत्र में काफी विकास हुआ।

उन्होंने कहा, ‘‘वर्ष 2004 में संप्रग से राजग सरकार को समृद्ध आर्थिक विरासत मिली थी। लेकिन संप्रग उसे आगे बढ़ाने में विफल रहा। वर्ष 2004 में भारत की विकास दर 8.6 फीसदी थी जो फिलहाल महज चार फीसदी रह गई है। अटलजी के समय में औद्योगिक वृद्धि दर 6.9 फीसदी थी जो अब शून्य के करीब है। सत्ता से बाहर जा रही संप्रग शून्य वृद्धि दर छोड़कर जा रही है।’’ राज्यसभा की सदस्य ने कहा कि मनमोहन सिंह के रूप में अर्थशास्त्री प्रधानमंत्री होने के बावजूद भारतीय अर्थव्यवस्था बुरे दौर में है।

उन्होंने दावा किया, ‘‘संप्रग ने 2004 में दावा किया था कि मनमोहन सिंह और वित्त मंत्री पी. चिदंबरम अर्थव्यवस्था को मजबूत करेंगे लेकिन वे विफल रहे। भारत पर फिलहाल 1.20 लाख करोड़ रुपये की सब्सिडी है। संप्रग सरकार के शासनकाल में रुपये के मूल्य में 38 फीसदी का अवमूल्यन हुआ। मुद्रास्फीति 9.5 फीसदी के करीब है जो 2003 में महज 4 फीसदी थी।’’ स्मृति ने नीतिगत अक्षमता का मुद्दा भी उठाया जिससे भारत का विकास बाधित हुआ है। स्मृति ने दावा किया, ‘‘संप्रग सरकार ने संसद में स्वीकार किया कि नीतिगत पंगुता के कारण एक लाख करोड़ रुपये की परियोजनाएं स्थगित हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘नरेंद्र मोदी आज उम्मीद के रूप में उभरे हैं। रैलियों में जो उन्हें समर्थन मिल रहा है, उससे हमें विश्वास है कि राजग मजबूत सरकार बनाएगा और आर्थिक स्थिति को पटरी पर लाएगा।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You