मिशन 2014 आंध्र प्रदेश का महत्व

  • मिशन 2014 आंध्र प्रदेश का महत्व
You Are HereNational
Monday, March 31, 2014-11:34 AM
हैदराबाद: यह भारत के दक्षिण-पूर्वी तट पर स्थित राज्य है जिसकी राजधानी और सबसे बड़ा शहर हैदराबाद है। 82 प्रतिशत जनसंख्या के साथ यहां हिंदू बहुसंख्यक हैं।
 
              सीटें-543 में से 42
चुनाव     कांग्रेस     टी.डी.पी.     भाजपा       अन्य
चुनाव कांग्रेस टी.डी.पी.   भाजपा   अन्य
1989   39 - ए.आई.एम.आई.एम. 1
1991    25   13  1    ए.आई.एम.आई.एम. 1 
सी.पी.आई.1
सी.पी.एम.1   


1996   22   16   1   ए.आई.एम.आई.एम. 1 
सी.पी.आई.2
सी.पी.एम.1

1998 22   12   4    ए.आई.एम.आई.एम. 1 
सी.पी.आई.2
1999     5    29    7
ए.आई.एम.आई.एम. 1 
   
सी.पी.आई. 1
सी.पी.एम. 1                        
2004       29  5 - ए.आई.एम.आई.एम. 1
टी.आर.एस. 5
सी.पी.आई. 1
सी.पी.एम. 1   

2009  33  6   - ए.आई.एम.आई.एम. 1
टी.आर.एस.2
 
 
-आंध्र प्रदेश में मुख्य मुकाबला कांग्रेस और टी.डी.पी. में होता रहा है हालांकि अब टी.आर.एस. भी उभर रही है।
-कांग्रेस और तेदेपा का तेलंगाना, प्रांत के तटीय इलाकों और रायल सीमा में अधिक प्रभाव है।
-कांग्रेस ने 1989 में 39 सीटें जीती थीं। उसके बाद अब तक वह कभी इतनी सीटें नहीं जीत पाई है।
-टी.डी.पी. के संस्थापक एन.टी.आर. के दामाद चंद्रबाबू नायडू द्वारा पार्टी की कमान संभालने के बाद सबसे अधिक जीती गई सीटों की संख्या केवल 29 है।
-भाजपा यहां कोई करिश्मा कर पाने में विफल रही। वह टी.डी.पी. की गठबंधन सहयोगी की भूमिका ही निभाती रही है।
-वामदल जिनका प्रांत में लंबा इतिहास रहा है, चुनावों में उनका प्रदर्शन कुछ खास नहीं है। बहुत गरीब तेलंगाना क्षेत्रों में ही उनका प्रभाव है।
-ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल ने पुराने हैदारबाद शहर में एक सीट हासिल की। यहां का सांसद सईज सलाहुद्दीन ओवैसी है।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You