खाली खजाने को भरेंगे भाजपा विधायक

  • खाली खजाने को भरेंगे भाजपा विधायक
You Are HereNcr
Monday, March 31, 2014-10:02 AM

नई दिल्ली : लोकसभा चुनाव में दिल्ली की सभी सातों सीटें जीतने के इरादे से उतरी भारतीय जनता पार्टी के सामने आर्थिक समस्या आ गई है। प्रदेश भाजपा के खजाने की हालत यह है कि यहां काम कर रहे कई कर्मचारियों को समय पर वेतन नहीं मिल  रहा है। ऐसे में चुनाव प्रचार में पर्याप्त पैसे की कल्पना भी बेमानी है।

आर्थिक  संकट से उबरने के लिए प्रदेश कार्यालय ने अपने सभी विधायकों को 20-20 लाख रुपए लाने का फरमान जारी कर दिया है। प्रदेश कार्यालय के इस फरमान से कई विधायकों की परेशानी बढ़ गई है। उनका कहना है कि चुनाव में जहां कार्यकर्ताओं का हौसला बढ़ाने के लिए उन्हें आर्थिक  मदद दी जानी चाहिए, वहां उल्टे पैसे मांगे जा रहे हैं।

बड़ी बात यह है कि प्रदेश कार्यालय ने अपने विधायकों को, जो किताब दी है, उसमें सबसे कम 5 हजार रुपए की रसीद है। यानी किसी भी व्यक्ति से 5 हजार रुपए से कम नहीं लेना है। इस पर भाजपा विधायकों की आपत्ति है कि आज के समय में किसी से एक रुपए निकालना आसान नहीं है, ऐसे में न्यूनतम 5 हजार रुपए निकालना कैसे संभव है। 

खजाने में कम हुए पैसों के बारे में पार्टी सूत्र बताते हैं कि पूर्व प्रदेश भाजपा अध्यक्ष केदारनाथ साहनी ने 8 करोड़ रुपए फिक्स डिपॉजिट कराए थे। इन पैसों के ब्याज से ही यहां काम करने वाले कर्मचारियों को वेतन दिया जाता था।

इन पैसों को डिपॉजिट करने का मुख्य उद्देश्य यह था कि एमरजैंसी में इसका इस्तेमाल किया जा सके लेकिन एक प्रदेश अध्यक्ष ने इस फिक्स डिपॉजिट को तोड़कर खर्च करना शुरू कर दिया। नतीजा पार्टी की तिजोरी करीब खाली हो चुकी है। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You