पंजाबी मां बोली पर English का खतरा!

  • पंजाबी मां बोली पर English का खतरा!
You Are HerePunjab
Monday, March 31, 2014-5:31 PM

जलालाबाद: पंजाबियों की मां बोली पंजाबी भाषा को विलुप्त होने से बचाने हेतु विभिन्न समाज सेवी संगठनों व अपनी मातृ भाषा से प्यार करने वालों द्वारा विभिन्न उपाए किए जा रहे है ताकि पंजाबी भाषा को पहले की तरह ही कामयाब बनाया जा सके। लेकिन पंजाबी मां बोली पर अन्य भाषाओं का बढ़ रहा प्रभाव इसके लिए नया संकट लेकर आ रहा है व आज के दौर में इंगलिश की बढ़ रही मांग पंजाबी भाषा की असल जगह उससे छीन रही है।

उल्लेखनीय है कि चाहें पिछले समय के दौरान पंजाब सरकार द्वारा राज्य भर में पंजाबी भाषा को पूरी तरह से लागू करने के हुक्कम दिए गए थे ताकि पंजाबी भाषा का प्रयोग  हर जगह पर किया जा सके। लेकिन इसके बाद इन निर्देशों को सख्ती से जारी नहीं किया गया। जिसके मद्देनजर प्रांत भर में विभिन्न सरकारी दफ्तरों आदि में अभी भी पंजाबी भाषा की जगह इंगलिश का प्रयोग किया जाता है। जिस कारण पंजाबी भाषा के विलुप्त होने का खतरा दिन-ब-दिन बड़ रहा है।

जहां इंग्लिश भाषा ने विभिन्न कार्य व बोली में अपनी जगह बना ली है। उसके साथ विवाह आदि समारोह में रिश्तेदारों आदि को निमंत्रण भेजने हेतु जो कार्ड कभी पंजाबी में प्रिंट होते थे। उन कार्ड पर भी अब अंग्रेजी भाषा का बोलबाला हो चुका है। व ज्यादातर लोग विवाह समारोह में शामिल होने हेतु दिए जाने वाले निमंत्रण पत्र के तौर पर दिए जाने वाले कार्ड अंग्रेजी में ही प्रिंट करवाते है और इंग्लिश में कार्ड छपवाने का रुझान दिन-ब-दिन बढ़ रहा है।

गौर करने वाली बात यह है कि भाषा कोई भी बुरी नही होती। लेकिन पंजाबी भाषा को हटा कर इंग्लिश अथवा अन्य भाषा का प्रयोग करना हमे पंजाबी भाषा से दूर कर रहा है। लेकिन अपनी भाषा को सम्मान देना हर व्यक्ति का फर्ज होता है व पंजाबियों को अपने इस फर्ज को पहचानना होगा। अगर उन्होंने अपने फर्ज को जल्द न पहचाना तो प्यारी मां बोली पंजाबी एक दिन पूरी तरह से पंजाबी जीवन से विलुप्त हो जाएगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You