‘मोदी दंगाई नहीं, कांग्रेस ने भड़काए थे दंगे’

  • ‘मोदी दंगाई नहीं, कांग्रेस ने भड़काए थे दंगे’
You Are HereNational
Thursday, April 03, 2014-8:28 PM

अहमदाबाद: जानी मानी लेखिका मधु किश्वर ने आज दावा किया कि गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के डीएनए में साम्प्रदायिकता नहीं है बल्कि गोधरा के बाद हुए दंगों को भड़काने का काम कांग्रेस ने किया था। किश्वर ने आज यहां अपनी पुस्तक मोदी मुस्लिम्स एंड मीडिया के विमोचन के अवसर पर पत्रकारों से कहा कि यह बिल्कुल गलत आरोप हैं कि गोधरा कांड के बाद हुए गुजरात के दंगो में मोदी का हाथ था क्योंकि वर्ष 2002 की फरवरी में वह उस समय के बजट को अंतिम रूप देने में व्यस्त थे1 गोधरा में साबरमती एक्सप्रेस ट्रेन जलाने की घटना में जुड़े लोगों के पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी आईएसआई से ताल्लुक थे और उनमें से कई कांग्रेस से भी जुड़े थे। किश्वर ने कहा कि मोदी ने कभी हिन्दुत्व की बात नहीं की बल्कि उन्होंने हमेशा पांच करोड़ गुजरातियों की बात की जिनमें मुस्लिम भी हैं।

उन्होंने राज्य के मुसलमानों से जुड़े कई मसलों को भीसुलझाया है। उन्होंने कहा कि अगर कोई मोदी पर गलत करने का आरोप लगाता है तो उसे उनके सही कामों के लिए उनकी तारीफ करने का साहस भी दिखाना चाहिए। गुजरात में पूरी शांति है और यहां वर्ष 2002 के बाद से कोई दंगे नहीं हुए। उन्होंने इस तरह के आरोप लगाने वाली कांग्रेस पार्टी पर प्रहार करते हुए कहा अगर मोदी की दंगों में संलिप्तता होती तो कांग्रेस ऐसा करने वाले समाजवादी पार्टी नेता मुलायम सिंह यादव की तरह उन्हें भी गले लगा लेती। अपनी पुस्तक की चर्चा करते हुए किश्वर ने कहा कि यह मोदी के शासन उन पर हुए मीडिया कवरेज दंगों जैसे मुद्दों तथा उच्चतम न्यायालय से उन्हें 2002 दंगों के मामले में मिली क्लीन चिट आदि के बारे में उनके गहरे अध्ययन का परिणाम है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You