सैंकड़ों को करोड़ों का चूना

  • सैंकड़ों को करोड़ों का चूना
You Are HereNcr
Friday, April 04, 2014-4:25 PM

नई दिल्ली : दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा ने एक कंपनी के डायरैक्टर को गिरफ्तार किया है। आरोपी की पहचान एस. आर. नंदन उर्फ रमेश (51) के रूप में हुई है। आरोपी ऊंची ब्याज दर का झांसा देकर लोगों से करोड़ों रुपए ठगी कर चुका था।

आरोपी आर्थिक अपराध शाखा ने भगौड़ा घोषित करके उसपर 50 हजार रुपए का ईनाम घोषित कर रखा था।

आर्थिक अपराध शाखा के अतिरिक्त पुलिस उपायुक्त मंगेश कश्यप ने बताया कि आर्थिक अपराध शाखा को वर्ष 2010-11 में इंडस कार एंड एयर रेंटल इंडिया लिमिटेड कंपनी के डायरैक्टरों और अधिकारियों के खिलाफ  कई शिकायतें मिली थीं।

कंपनी मोटी रकम इकट्ठा करने के बाद  फरार हो गई। आर्थिक अपराध शाखा की टीम को प्राथमिक जांच पर पता चला कि कंपनी एस.आर. नंदन, विमल अग्रवाल, कमलकांत कौशिक और राम कुमार पाठक ने मिलकर बनाई थी।

कंपनी में करीब 900 लोगों ने 15 करोड़ रुपए जमा किए थे।  पुलिस ने आरोपी एस.आर. नंदन को गिरफ्तार किया। पूछताछ पर पता चला कि वह राम कुमार पाठक और विमल अग्रवाल के साथ लोनी में प्रॉपर्टी का कारोबार करता था।

उसी दौरान उनकी मुलाकात कमलकांत कौशिक से हुई। प्रॉपर्टी में रुपए लगाने के लिए उन्होंने एक कंपनी खोली और लोगों को झांसा देकर रुपए ठगने लगे।

कैसे दिया झांसा 

झांसा देने के लिए तीनों ने पर्चे बंटवाए, न्यूज पेपरों में भी विज्ञापन दिया,कई वैबसाइट पर भी इसका प्रचार किया। कंपनी ने दावा किया कि कम पैसा जमाकर अच्छे ब्याज पर मोटी रकम पा सकते हैं।

लोगों को ठगने के लिए उन्होंने कई लुभावनी योजनाएं बनाईं, जिसमें कंपनी में अगर कोई  1.25 से लेकर 5.45 लाख रुपए 5 साल के लिए जमा करवाता है तो उसको प्रत्येक माह 8,200 रुपए से लेकर 36,500 रुपए मिलेंगे।

शुरूआत में कुछ को पैसे मिले भी लेकिन बाद में उनके दिए चैक बाऊंस होने लगे। जब लोग उनके ऑफिस पहुंचने लगे। वे ऑफिस को ताला लगाकर फरार हो गए।   


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You