नई सरकार के लिए तैयार रखें एक्शन प्लान

  • नई सरकार के लिए तैयार रखें एक्शन प्लान
You Are HereNational
Saturday, April 05, 2014-3:52 AM

नई दिल्ली (विशेष): कैबिनेट सचिव अजीत सेठ ने करीब 100 प्रमुख सचिवों तथा सरकार के विभागों के प्रमुखों को निर्देश दिया है कि वे मई में चुनावों के बाद नई सरकार के सत्ता संभालने के तुरंत बाद पहले 3 माह के लिए एक्शन प्लान को तैयार रखें। प्रमुख नौकरशाहों को एक अलग पत्र द्वारा सेठ ने सूचित किया है कि नई सरकार के गठन के 3 माह के भीतर जो कोई भी आदेश तथा निर्णय बचे हों उन्हें तुरंत एक्शन के लिए तैयार रखना चाहिए।

सेठ ने कहा कि ऐसे मुद्दों को उनके द्वारा विशेष तौर पर स्पष्ट किया जाए ताकि एक्शन लेने में जरा-सी भी देरी न हो। उन्होंने आगे यह भी निर्देश दिया कि अगले 1 साल के लिए एक्शन प्लान को चिन्हित करने के लिए दस्तावेजों का एक अलग सैट तैयार रखा जाए। दस्तावेजों के 2 सैटों का पहला उद्देश्य है अल्पावधि तथा दूसरा दीर्घावधि है क्योंकि नई सरकार को कामकाज संभालने में कुछ वक्त चाहिए। इस कारण किसी कार्य में विलंब नहीं होना चाहिए। सेठ ने 5 प्रमुख ऐसे आक्रामक क्षेत्रों को चिन्हित किया है जहां पर सरकार को राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय विशेष मुद्दों पर कार्य करना अपेक्षित है।

इससे पहले कि चुनावों के नतीजे घोषित हों, नौकरशाहों ने नए प्रधानमंत्री तथा केन्द्रीय मंत्रिमंडल के मंत्रियों पर तैयारियां शुरू कर दीं। कैबिनेट सचिव ने प्रमुख नौकरशाहों को अगली सरकार, जो कि मई के तीसरे सप्ताह या जून के पहले हफ्ते में कार्यभार संभालेगी, के लिए विशेष मुद्दों को चिन्हित करने हेतु कह दिया है। भारत सरकार के सचिवों को जारी एक गोपनीय सर्कुलर नोट द्वारा 5 महत्वपूर्ण क्षेत्रों को विस्तार रूप से बताया गयाहै।

1. वर्तमान वर्ष तथा प्रमुख मदों की 12वीं योजना हेतु बजट आबंटन।
2. वर्तमान में लागू की जा रही प्रमुख स्कीमें।
3. राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय महत्व के उचित मुद्दे।
4. पहले वर्ष तथा पहले 3 माह के दौरान किए जाने वाले कार्योंको विशेष रूप से चिन्हित किया जाए।
5. कोई भी मुद्दा जिस पर कैबिनेट/ कैबिनेट कमेटी नोट निर्णय के लिए लंबित है तथा कैबिनेट द्वारा कोई भी मुद्दा जो कि विचार के लिए अपेक्षित है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You