सभी दलों को करनी होगी कड़ी मेहनत

  • सभी दलों को करनी होगी कड़ी मेहनत
You Are HereNcr
Saturday, April 05, 2014-10:47 AM

नई दिल्ली: दिल्ली में लोकसभा की 7 सीटों पर इलैक्ट्रॉनिक चैनलों द्वारा किए गए चुनावी सर्वे के बाद कांग्रेस, भाजपा और आप के नेताओं ने अब अधिक से अधिक मतदाताओं से सम्पर्क कर चुनाव प्रचार में अपना पूरा जोर लगा दिया है। 

भाजपा को उम्मीद थी कि दिल्ली में उसकी पकड़ बनी हुई है लेकिन अब कम से कम 2 सीटों पर पार्टी के नेताओं को डर सता रहा है, जबकि कांग्रेस के नेता फिलहाल राहुल गांधी की रविवार को होने वाली रैली को सफल बनाने के लिए ही जोर लगा रहे हैं। 

दरअसल कांग्रेस कार्यकर्ताओं के सामने एक समस्या यह भी बनी हुई है कि प्रदेश पार्टी के अध्यक्ष चुनाव के ऐन मौके पर कार्यकारिणी को भंग कर दिया।

पार्टी का कहना है कि चुनाव में भाग लेने वाले कार्यकर्ताओं की सक्रियता को देखने के बाद ही उन्हें संगठन में जगह दी जाएगी लेकिन पार्टी के नेता की इस दलील से कार्यकर्ता संतुष्ट दिखाई नहीं दे रहे हैं।

उनका कहना है कि कांग्रेस के इतिहास में यह पहला मौका है कि जब लोकसभा चुनाव से पूर्व प्रदेश की कार्यकारिणी को भंग कर दिया गया। 

इससे कोई फायदा नहीं बल्कि नुक्सान ही होगा। उनका कहना है कि ऐसा होने से आजकल पड़ रही चिलचिलाती गर्मी में जिला स्तर ही नहीं बल्कि ब्लॉक स्तर के कार्यकर्ताओं को भी घरों से बाहर निकालना भारी पड़ रहा है। 

दूसरी ओर भाजपा के नेताओं की सोच यह है कि अब उन सीटों पर खास जोर दिए जाने की जरूरत है जिन्हें कुछ कमजोर माना जा रहा है। इस बात को ध्यान में रखते हुए पार्टी ने तीनों सीटों पर कांग्रेस और आप का मुकाबला करने के लिए एक रणनीति तैयार की है।

अब आने वाले दिनों में उसी रणनीति के तहत चुनाव प्रचार पर जोर दिया जाएगा। भाजपा के नेताओं को विश्वास है कि अगले 4-5 दिनों में स्थिति पर पूरी तरह से नियंत्रण पा लिया जाएगा, जिससे भाजपा के प्रत्याशी सभी सीटों पर अपने प्रतिद्वंद्वी उम्मीदवारों को कड़ी टक्कर दे सकें।

वैसे आप के नेताओं को किसी प्रकार के सर्वे पर विश्वास नहीं है। उनका मानना है कि हम चुनाव को जीतने के लिए चुनाव मैदान में उतरे हैं और परिणाम का इंतजार करने के बाद ही कुछ कहेंगे।

पार्टी के एक नेता ने कहा कि गत विधानसभा चुनाव के दौरान भी इसी तरह से सर्वे सुनने को मिले थे लेकिन परिणाम आने के बाद सभी प्रकार की भविष्यवाणियां गलत साबित हो गई थीं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You