टिकट नहीं मिली तो करूणा ने 30 साल पुराना रिश्ता तोड़ा: रमन

  • टिकट नहीं मिली तो करूणा ने 30 साल पुराना रिश्ता तोड़ा: रमन
You Are HereChhattisgarh
Saturday, April 05, 2014-2:26 PM
रायपुर: छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह ने सार्वजनिक मंच पर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी की भतीजी करूणा शुक्ला पर सीधा हमला बोला और कहा कि शुक्ला ने केवल टिकट नहीं मिलने पर भाजपा से 30 साल पुराना रिश्ता तोड़ दिया। सिंह ने आज बिलासपुर में भाजपा प्रत्याशी लखनलाल साहू की नामांकन रैली के अवसर पर आयोजित सभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कांग्रेस की प्रत्याशी करुणा शुक्ला पर सीधा हमला बोलते हुए कहा कि 30 साल सम्मानजनक पदों, विधायक और सांसद रहने के बाद सिर्फ एक बार टिकट नहीं मिलने पर पार्टी बदलने वालों में से हम लोग नहीं हैं।
 
रमन सिंह ने कहा कि पार्टी से हमारी पहचान है, पार्टी हमारी मां तुल्य है। बिलासपुर सीट भाजपा की अपराजेय सीट है और इस सीट को जीतने से हमें कोई नहीं रोक सकता। इस अवसर पर कांग्रेस नेता गोविंदराम मिरी तथा मदन सिंह डहरिया ने भाजपा प्रवेश किया। मिरी और डहरिया ने कहा कि वह भाजपा की विकास की नीति से प्रभावित होकर यहां आये हैं। जबकि करुणा शुक्ला अपने संस्कार, अपना परिवार और अपनी संस्कृति छोड़कर केवल टिकट की खातिर भ्रष्टाचार की गंगोत्री में डुबकी लगाने के लिए निकली है। लेकिन अब कांग्रेस का न तो कोई भविष्य है और न ही राजनीति में करुणा शुक्ला का कोई अस्तित्व बचने वाला है। भारतीय जनता पार्टी की पूर्व वरिष्ठ नेता करूणा शुक्ला ने बीते विधानसभा चुनाव के दौरान पार्टी छोड़ दी थी। बाद में शुक्ला ने कांगे्रस प्रवेश कर लिया। कांगे्रस ने करूणा को बिलासपुर लोकसभा सीट के लिए अपना उम्मीदवार बनाया है। शुक्ला का मुकाबला भाजपा के उम्मीदवार लखनलाल साहू से है।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You