<

नए सर्वे में फिर भाजपा ने लहराया परचम

  • नए सर्वे में फिर भाजपा ने लहराया परचम
You Are HereNcr
Saturday, April 05, 2014-3:59 PM

नई दिल्ली: इस लोकसभा चुनाव में विभिन्न चैनलों द्वारा चलाए गए अलग-अलग चुनावी सर्वेक्षण में भाजपा एक बार फिर सबसे बड़ी पार्टी के रूप में उभरकर सामने आई है। तथा उनके सहयोगी दलों को एक और ओपिनियन पोल ने बढ़त दी है। एनडीटीवी और हंसा रिसर्च ग्रुप के इस ओपिनियन पोल में भाजपा की सबसे अधिक सीटों पर जीत का अनुमान है। इस सर्वे की रिपोर्ट को देखकर कांग्रेस के दिग्गजों की परेशानी और बढ़ गई है।

देश की 543 लोकसभा सीटों पर किए गए इस ओपिनियन पोल में चुनाव बाद भाजपा सबसे बड़े दल के रूप में उभरती नजर आ रही है। जिसमें भाजपा तथा उसके सहयोगी दलों को लगभग 259 सीटें मिलने का अनुमान है। इस ओपिनियन पोल में  वहीं दूसरी तरफ के सर्वे आंकड़े को देखा जाय तो कांग्रेस को इस लोकसभा में लगभग 104 सीटें मिलने का अनुमान लगाया जा रहा है। इस सर्वे में 350 से ज्यादा लोकसभा सीटों के 2 लाख से ज्यादा लोगों के सैंपल लिए गए हैं।

इस फेज़ में 154 सीटों के 46,571 लोगों से बातचीत के आधार पर आंकड़े जुटाए गए हैं। देश के सबसे बड़े प्रदेश, उत्तर प्रदेश में भी भाजपा का ही जलवा दिखाई दे रहा है। यूपी की 80 सीटों पर भाजपा को भारी बढ़त का अनुमान है। पार्टी यहां 43 सीटों के फायदे के साथ कुल 53 सीटें जीत सकती है। राज्य में सपा को 10, बसपा को 13 और कांग्रेस को 19 सीटों के नुकसान का अनुमान है। पंजाब की 13 सीटों पर कांग्रेस नुकसान में दिख रही है। कांग्रेस के यहां 1 सीट के नुकसान के साथ 7 सीटें पाने का अनुमान है।

शिरोमणि अकाली दल और भाजपा गठबंधन के कुल 6 सीटें जीतने की संभावना है। हरियाणा में भी भाजपा काफी अच्छी स्थिति में नजर आ रही है। यहां पर भाजपा के खाते में कुल 10 में से 5 सीटें मिलने की उम्मीद जताई जा रही है। जबकि कांग्रेस के खाते 3 सीटें जाती हुई नजर आ रही हैं। बाकी सीटों पर क्षेत्रीय पार्टीयों के जीतने की उम्मीद जताई जा रही है। ओपिनियन पोल में पश्चिम बंगाल की 42 सीटों पर तृणमूल कांग्रेस को भारी बढ़त का अनुमान है।

तृणमूल को 9 सीटों के फायदे के साथ कुल 28 सीटें मिलने की संभावना है। और इस प्रदेश में भाजपा के खाते में कम सीटें ही आती हुई नजर आ रही है।वहीं, लेफ्ट को 6 सीटों के नुकसान का अनुमान है। लेफ्ट को कुल 9 सीटें मिलने की संभावना है। ओपिनियन पोल के कांग्रेस के 1 सीट के नुकसान के साथ 5 सीटों पर सिमटने का अनुमान है।

हालांकि भाजपा का राज्य में खाता खुलता नजर नहीं आ रहा है। अन्य को भी यहां कोई फायदा होता नजर नहीं आ रहा है।गुजरात की 22 सीटों पर लहरा सकता है परचम ओडिशा की 21 सीटों में बीजेडी को 4 सीटों का फायदा होने का अनुमान है। बीजेडी को यहां कुल 18 सीटें मिल सकती है। जबकि कांग्रेस की मौजूदा तीनों सीट उसके हाथ से निकल सकती है।

हालांकि असम की 14 सीटों पर कांग्रेस को बढ़त की संभावना है। कांग्रेस यहां 4 सीटों के फायदे के साथ कुल 11 सीटों पर जीत दर्ज कर सकती है। जबकि भाजपा को एक सीट के नुकसान के साथ 3 सीटें मिलने का अनुमान है। भाजपा को गुजरात से फायदा अच्छा होता नजर आ रहा है। यहां भाजपा के 7 सीटों की बढ़त के साथ कुल 22 सीटें जीतने का अनुमान है। कांग्रेस को राज्य में 7 सीटों के नुकसान के साथ 4 सीटें मिलने का अनुमान है।

इस चुनावी सर्वे में भाजपा को देश में काफी सीटें मिलने की उम्मीद तो है लेकिन यह कहां तक सच साबित होगा यह चुनाव के बाद ही पता चलेगा। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You