प्रचार में सोनिया और राहुल के नाम से परहेज!

  • प्रचार में सोनिया और राहुल के नाम से परहेज!
You Are HereNcr
Saturday, April 05, 2014-4:43 PM

नई दिल्ली (अशोक चौधरी): नई दिल्ली लोकसभा से तीसरी बार चुनाव लड़ रहे कांग्रेस प्रत्याशी अजय माकन के प्रचार में सिर्फ अजय माकन के नाम के ही नारे लग रहे हैं।

 कांग्रेस की अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी नाम का नारा सुनाई नहीं देता है। कभी-कभी कांग्रेस पार्टी के नाम का नारा जरूर सुनाई दे जाता है।

भ्रष्टाचार से घिरी कांग्रेस शासन में मंत्री रहने वाले एक प्रत्याशी के प्रचार में पार्टी हाई कमान का नाम नारों से दूर रहना अपने आप में एक सवाल है। जहां दूसरे दल के उम्मीदवार अपने पार्टी और  हाई कमान के सहारे चुनावी मैदान में हैं।

वहीं 2 बार से सांसद अजय माकन भी कांग्रेस के भ्रष्टाचार से कहीं न कहीं भयभीत हैं।ढेरों काम और बेदाग नाम के सहारे हैट्रिक लगाने मैदान में उतरे माकन दिल्ली विधानसभा में हुई दुर्दशा को अपनी सीट जीत कर भुलाना चाह रहे हैं।

इसके लिए वह कोई कोताही  बरतना नहीं चाहते हैं। भ्रष्टाचार के दाग का असर अपने ऊपर नहीं पडऩे देना चाह रहे हैं। शायद यही कारण है कि प्रचार के दौरान कार्यकत्र्ता पार्टी के नाम का नारा लगाने से हिचक रहे हैं।  

सुबह से शाम तक पदयात्रा कर जनता के बीच वोट मांग रहे माकन 10 साल के कार्यकाल में किए कार्यों के बारे में ही वोट देने की अपील कर रहे हैं। इसके लिए नई दिल्ली लोकसभा में आने वाले दसों विधानसभा क्षेत्रों के लिए फोल्डर पंपलेट बंटवा रहे हैं, जिसमें उस विधानसभा क्षेत्र में किए गए काम की जानकारी दी गई है।

सोनिया और कांग्रेस के युवराज से परहेज कर रहे माकन का कांग्रेस का गुणगान करने से बेहतर अपने काम को ही जीत का मंत्र मान रहे हैं।  


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You