MP: सुषमा स्वराज की उम्मीदवारी ने विदिशा सीट को बनाया खास

  • MP: सुषमा स्वराज की उम्मीदवारी ने विदिशा सीट को बनाया खास
You Are HereMadhya Pradesh
Sunday, April 06, 2014-1:41 PM
भोपाल: मध्यप्रदेश में ‘भाजपा का गढ़’ कहे जाने वाली विदिशा-रायसेन संसदीय सीट पिछली बार की तरह इस बार भी लोकसभा में विपक्ष की नेता सुषमा स्वराज की उम्मीदवारी की वजह से खास है, लेकिन अबकी बार वहां त्रिकोणीय मुकाबले के आसार हैं। विदिशा सीट पर भाजपा की ओर से जहां लगातार दूसरी बार सुषमा स्वराज ने दावा ठोका है, तो कांग्रेस ने लक्ष्मण सिंह को उम्मीदवार बनाया है, जो पार्टी महासचिव एवं प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के छोटे भाई हैं। पांच साल से कांग्रेस से निष्कासित चल रहे पूर्व मंत्री राजकुमार पटेल के क्षेत्र से मुकाबले में उतरने की घोषणा करने से यहां चुनाव रोचक हो गया है। 
 
पटेल के निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में लडऩे की संभावना ज्यादा है। पटेल को कांग्रेस ने इसलिए पांच साल के लिए निष्कासित कर दिया था, क्योंकि वर्ष 2009 के पिछले लोकसभा चुनाव में ‘बी-फार्म’ की कथित गड़बड़ी की वजह से उनका पर्चा निरस्त हो गया था और सुषमा का रास्ता निष्कंटक बन गया था। सुषमा यहां अपनी राष्ट्रीय नेता की छवि, बेदाग राजनीतिक जीवन और मिलनसारिता जैसे गुणों के कारण पूरे संसदीय क्षेत्र में लोकप्रिय हैं।

क्षेत्र की आठ विधानसभा सीटों में से छह पर भाजपा और गंजबसौदा व इछावर पर कांग्रेस काबिज है। भाजपा के पास इन दोनों सीटों पर वोट प्रतिशत बढ़ाने की चुनौती है। उधर, कांग्रेस ने राजगढ़ के पूर्व सांसद लक्ष्मण सिंह को मैदान में उतारकर स्थानीय गुटीय राजनीति को खत्म करने के संकेत दिए हैं। खासकर किरार, दांगी और जैन समाज के कई धाकड़ कांग्रेसी नेता क्षेत्र में अपना दबदबा रखते हैं, लेकिन खुद एक-दूसरे को पसंद नहीं करते हैं।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You