<

लोकसभा चुनाव के बाद एक और चुनाव के लिए रहिए तैयार

  • लोकसभा चुनाव के बाद एक और चुनाव के लिए रहिए तैयार
You Are HereNational
Monday, April 07, 2014-1:07 PM

लखनऊ: लोकसभा चुनाव के बाद उत्तर प्रदेश के मतदाताओं को एक ‘मिनी इलेक्शन’ के लिए तैयार रहना होगा क्योंकि देश की सबसे बड़ी पंचायत में जाने के लिए 33 विधायक भी इस चुनाव मैदान में हैं जिनके जीतने पर कई विधानसभा क्षेत्रों में उपचुनाव होंगे। इन विधायकों के जीतने पर संबंधित विधानसभा क्षेत्रों पर उपचुनाव कराना पड़ेगा।

सर्वाधिक 13 विधायक समाजवादी पार्टी (सपा)से लोकसभा पहुंचने की जुगत में हैं जबकि भाजपा से आठ, कांग्रेस से छह, बसपा से दो, राष्ट्रीय लोकदल और अपना दल से एक-एक विधायक लोकसभा का चुनाव लड़ रहे हैं। अपना दल की विधायक अनुप्रिया पटेल भाजपा के सहयोग से मिर्जापुर लोकसभा क्षेत्र से प्रत्याशी हैं। भाजपा ने सहारनपुर से राघव लखनपाल को उम्मीदवार बनाया है।

वह सहारनपुर जिले की सदर सीट से विधायक हैं। भाजपा विधानमंडल दल के नेता हुकुम सिंह कैराना लोकसभा सीट से चुनाव लड़ रहे हैं। वह शामली जिले की कैराना सीट से विधायक हैं। बिजनौर से कुंवर भारतेन्दु सिंह लोकसभा के उम्मीदवार हैं। वह बिजनौर सदर सीट से विधायक हैं।

रामपुर से भाजपा प्रत्याशी डा.नेपाल सिंह विधान परिषद में पार्टी के नेता हैं जबकि साध्वी उमा भारती महोबा जिले की चरखारी सीट से विधायक हैं और वह झांसी लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ रही हैं। डा. नेपाल सिंह का विधान परिषद में कार्यकाल 16 नवम्बर 2016 तक है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You