नवरात्र में प्रेमी जोड़े ने किया ऐसा काम कि कांप उठेगी आपकी रूह!

  • नवरात्र में प्रेमी जोड़े ने किया ऐसा काम कि कांप उठेगी आपकी रूह!
You Are HereNational
Monday, April 07, 2014-5:44 PM

नई दिल्ली: भारत में जहां को कन्या को देवी का रूप माना जाता है, वहीं सारसौल चौकी के वैशालीपुरम में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आयी है। जहां एक प्रेमी-प्रेमिका ने अपनी पैदा हुई दो दिन नवजात बेटी को जिन्दा दफनाने की योजना बना डाली। वह शुक्र रहा कि क्षेत्रीय लोगों की मदद से उस नवजात को बचा लिया गया। मौके पर पहुंची पुलिस ने आरोपियों को अपनी हिरासत में ले लिया और नवजात को चाइल्ड लाइन के सुपुर्द कर दिया है। मामला कुछ इस तरह है कि वैशालीपुरम इलाके में एक मकान में युवती किराये पर रहती है। वहीं उसके एक शादीशुदा दो बच्चों के बाप से संबंध हो गए। शादीशुदा प्रेमी भी उसी मकान में परिवार सहित किराये पर रहता था। एसओ बन्नादेवी के अनुसार पंूछ ताछ में दोनों ने स्वीकारा कि युवती इन संबंधों के चलते जब गर्भवती हुई तो जानकारी में देरी से आया और वह गर्भपात नहीं करा सका।

इसके बाद उसने 4 अप्रैल को बच्ची को जन्म दिया। बच्ची को कुंवारी मां कहां और कैसे रखे, यह सोचकर सभी परेशान थे। कोई निर्णय सामने न आने पर वह मोहल्ले में ही एक खेत में बच्ची को कपड़े के थैले में लेकर दफनाने के लिए चल दिए। साथ में नमक व लौंग भी ले लीं, ताकि दफ न होने के बाद किसी तरह की बदबू न आए। इनकी मदद में एक अन्य व्यक्ति भी आया। तीनों लोग गड्ढा खोद रहे थे, तभी कुछ लोगों की नजर पड़ गई और शक होने पर तीनों को बच्ची सहित दबोच लिया गया। पहले पुलिस को खबर दी गई और फि र चाइल्ड लाइन को भी बुला लिया गया। पुलिस युवती और उसके साथ मौजूद कमलेश व देवेंद्र नाम के व्यक्ति को गिरफ्तार कर थाने ले आई। बच्ची को चाइल्ड लाइन के हवाले कर दिया गया है। चाइल्ड लाइन के ज्ञानेंद्र मिश्रा के अनुसार बच्ची को बाल कल्याण समिति के समक्ष पेश किया जाएगा। वही बच्ची का भविष्य तय करेगी। कोई अगर बच्ची को गोद लेना चाहता है तो उसे समिति के सामने आवेदन करना होगा। एसओ बन्नादेवी के अनुसार युवती व दोनों व्यक्तियों के खिलाफ  मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You