<

MP: प्रथम चरण की 9 सीटों के लिए मतदान 10 अप्रैल

  • MP: प्रथम चरण की 9 सीटों के लिए मतदान 10 अप्रैल
You Are HereNational
Tuesday, April 08, 2014-2:13 PM

भोपाल: मध्य प्रदेश में लोकसभा चुनाव के प्रथम चरण का मतदान गुरुवार, 10 अप्रैल को होने जा रहा है। इस चरण में 9 संसदीय सीटों के लिए मतदान कराए जाएंगे, जिसमें केंद्रीय मंत्री कमलनाथ सहित 118 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला होना है। निर्वाचन आयोग की तरफ से मतदान के लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।

राज्य की 29 संसदीय सीटों पर तीन चरणों में मतदान कराए जा रहे हैं। प्रथम चरण में नौ संसदीय क्षेत्रों- छिंदवाड़ा, सतना, रीवा, बालाघाट, सीधी, शहडोल, मण्डला, जबलपुर और होशंगाबाद में मतदान होने हैं। इन संसदीय क्षेत्रों में करीब 1.44 करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। मुख्य निर्वाचन अधिकारी के कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार, प्रथम चरण के चुनाव के लिए कुल 144 उम्मीदवारों ने नामांकन दाखिल किए थे, जिनमें 10 उम्मीदवारों का नामांकन किसी न किसी कारण से रद्द कर दिया गया।

नामांकन पत्रों की जांच के बाद 134 उम्मीदवारों में से 16 उम्मीदवारों ने अपने नाम वापस ले लिए, जिसके बाद अब चुनाव मैदान में कुल 118 उम्मीदवार शेष बचे हैं। इनमें से सतना, रीवा, सीधी और शहडोल में 14-14, जबलपुर में 15, मण्डला में 10, बालाघाट में 16, छिंदवाड़ा में 13 और होशंगाबाद ससंदीय क्षेत्र में आठ उम्मीदवारों के बीच मुकाबला है। निर्वाचन आयोग ने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए हैं, और दूसरे राज्यों से लगने वाली सीमाओं पर चौकसी बढ़ा दी गई है।

नक्सल प्रभावित बालाघाट जिले के संसदीय क्षेत्र के तीन विधानसभा क्षेत्रों -लांजी, बैहर, और परसवाड़ा- में विशेष चौकसी बरती जा रही है। मतदान के दौरान निर्वाचन अधिकारी हवाई सर्वेक्षण भी करेंगे। प्रथम चरण के नौ सीटों में से छिंदवाड़ा व जबलपुर संसदीय क्षेत्र महत्वपूर्ण माने जा रहे हैं। छिंदवाड़ा में केंद्रीय मंत्री व कांग्रेस के नेता कमलनाथ का मुकाबला भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के चौधरी चंद्रभान सिंह से है, वहीं जबलपुर से भाजपा के मौजूदा सांसद राकेश सिंह के खिलाफ कांग्रेस ने राज्य के पूर्व महाधिवक्ता विवेक तन्खा को उतारा है।

प्रथम चरण का चुनाव कांग्रेस और भाजपा दोनों के लिए महत्वपूर्ण है, क्योंकि पिछले लोकसभा चुनाव में इन नौ संसदीय क्षेत्रों में से छह पर भाजपा और तीन पर कांग्रेस को जीत मिली थी। होशंगाबाद के कांग्रेस सांसद उदय प्रताप ने बाद में भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली थी और इस बार वह भाजपा के उम्मीदवार के तौर पर चुनाव मैदान में है। राज्य के नौ संसदीय क्षेत्रों में चुनाव प्रचार मंगलवार शाम 6 बजे थम जाएगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You