<

'चुनाव आयोग को ममता की चुनौती से संवैधानिक संकट'

  • 'चुनाव आयोग को ममता की चुनौती से संवैधानिक संकट'
You Are HereNational
Tuesday, April 08, 2014-3:52 PM

कोलकाता: लोकसभा के पूर्व अध्यक्ष सोमनाथ चटर्जी ने आज कहा कि राज्य में पदस्थ अधिकारियों का तबादला करने के मुद्दे पर चुनाव आयोग को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की ओर से दी गई चुनौती ने एक ‘संवैधानिक संकट’ खड़ा कर दिया है और एक गलत उदाहरण पेश किया है।

उन्होंने कहा, "संविधान में कहा गया है कि एक बार चुनाव की घोषणा हो जाने के बाद चुनाव आयोग को यह अधिकार है कि यदि वह उचित समझे तो अधिकारियों का तबादला कर सकता है। अब मुख्यमंत्री कुछ अलग ही बात कह रही हैं। इससे संवैधानिक संकट पैदा हो गया है।" उन्होंने कहा कि इससे एक गलत उदाहरण भी पेश हुआ है जिसका तत्काल समाधान निकाला जाना चाहिए।

पश्चिम बंगाल के चुनाव आयोग ने कल पांच पुलिस अधीक्षकों और एक जिला मजिस्ट्रेट को चुनाव ड्यूटी से हटा दिया था लेकिन मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उसका जोरदार शब्दों में विरोध किया था। चुनाव आयोग के इस आदेश से बिफरी ममता ने कहा था कि किसी भी अधिकारी को तब तक हटाया नहीं जाएगा जब तक वह मुख्यमंत्री के पद पर काबिज हैं। उन्होंने चुनाव आयोग को चुनौती देते हुए कहा था कि वह उनके खिलाफ कार्रवाई करे और इसके लिए वे गिरफ्तार होने और जेल जाने तक को तैयार हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You