भगवान से कुछ भी मांगने से पूर्व विचार करें

  • भगवान से कुछ भी मांगने से पूर्व विचार करें
You Are HerePrerak Prasang
Saturday, January 17, 2015-9:16 AM

एक बच्चा अपनी मां के साथ एक दुकान पर शॉपिंग करने गया तो दुकानदार ने उसकी मासूमियत देखकर उसको सारी टॉफियों के डिब्बे खोलकर कहा कि लो बेटा टॉफियां ले लो, पर उस बच्चे ने भी बड़े प्यार से उन्हें मना कर दिया। 

इसके बावजूद उस दुकानदार और उसकी मां ने भी उसे बहुत कहा पर वह मना करता रहा। हारकर उस दुकानदार ने खुद अपने हाथ से टॉफियां निकाल कर उसको दीं तो उसने ले लीं और अपनी जेब में डाल लीं। 

वापस आते हुए उसकी मां ने पूछा, ‘‘जब अंकल तुम्हारे सामने डिब्बा खोल कर टॉफियां दे रहे थे तब तुमने नहीं लीं और जब उन्होंने अपने हाथों से दीं तो ले लीं, ऐसा क्यों?’’

तब उस बच्चे ने बहुत खूबसूरत जवाब दिया, ‘‘मां मेरे हाथ छोटे-छोटे हैं। अगर मैं टॉफियां लेता तो 2-3 टॉफियां ही आतीं जबकि अंकल के हाथ बड़े हैं इसलिए ज्यादा टॉफियां मिल गईं।’’ 

बिल्कुल इसी तरह जब भगवान हमें देता है तो वह अपनी मर्जी से देता है और वह हमारी सोच से परे होता है, हमें हमेशा उसकी मर्जी में खुश रहना चाहिए। क्या पता वह किसी दिन हमें पूरा समुद्र देना चाहता हो और हम हाथ में चम्मच लेकर खड़े हों।

 

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You