Subscribe Now!

पंजाब के दरकिनार नेताओं को राजनाथ ने दिल्ली बुलाया

  • पंजाब के दरकिनार नेताओं को राजनाथ ने दिल्ली बुलाया
You Are HerePunjab
Friday, October 25, 2013-9:56 AM

जालंधर: पंजाब भाजपा में इस समय एक खास गुट की मनमर्जी चल रही है जिस कारण प्रदेश में भाजपा का आम वर्कर हतोत्साहित हो रहा है। इसी के कारण प्रदेश में रोष बढ़ रहा है जबकि केंद्रीय भाजपा पंजाब से सभी सीटों की उम्मीद लगा कर बैठी है।

प्रदेश पदाधिकारियों की कार्यप्रणाली से रुष्ट भाजपा का एक गुट राष्ट्रीय अध्यक्ष के सामने पेश होने जा रहा है जिसके लिए राजनाथ सिंह ने समय भी दे दिया है। जानकारी के अनुसार पंजाब में भाजपा के एक गुट ने जरूरत से अधिक अपनी पावर का प्रयोग आरंभ कर दिया है। प्रदेश में अध्यक्ष तथा अन्य पावरफुल नेताओं के खासमखास लोगों को चुनाव हारने के बाद भी सत्ता सुख में भागीदार बनाया जा रहा है जबकि बाकी कई नेताओं को खाली लॉलीपॉप देकर काम चलाया जा रहा है।

सूत्रों का कहना है कि पंजाब भाजपा के कुछ लोगों ने राजनाथ सिंह से सम्पर्क कर राज्य की हालत का पूरा ब्यौरा देने के लिए समय मांगा है। सूत्र बताते हैं कि राजनाथ ने नवम्बर के पहले सप्ताह में उन्हें दिल्ली आकर अपनी बात रखने का समय भी दे दिया है। इसके लिए जारी की गई तारीख की पुष्टि नहीं हो पाई है। जानकारी के अनुसार पंजाब में हाल ही में चेयरमैन पदों के लिए एक सूची तैयार की गई थी। इस सूची को केवल हवा में ही लटका कर रख दिया गया है जबकि होशियारपुर से चुनाव हारने वाले तीक्षण सूद, जो प्रदेश अध्यक्ष के करीबी हैं, को मुख्यमंत्री का सलाहकार बना दिया गया है।

इसी प्रकार पूर्व प्रदेश अध्यक्ष प्रो. रजिंद्र भंडारी जो 35 हजार से अधिक मतों से विधानसभा सीट हारे हैं, को भी एक कमेटी का उपचेयरमैन लगा दिया गया है जबकि पूरे पंजाब में अन्य किसी भाजपा नेता को न तो चेयरमैन तथा न ही उपचेयरमैन लगाया गया है। इसके कारण प्रदेश के कई नेताओं में रोष है। जानकार बताते हैं कि चंद लोगों को छोड़ कर प्रदेश में सभी पुराने व नए भाजपा नेताओं को खुड्डे लाइन लगा दिया गया है जबकि खुद जो पावरफुल नेता हैं वे केवल अकाली दल की नीतियों के अनुसार राज्य में काम कर रहे हैं जिसका प्रदेश के शहरी वोट बैंक पर बुरा असर पड़ रहा है।

व्यापारी व उद्योगपति तक सड़कों पर उतर आए हैं तथा खुद भाजपा व अकाली दल के लोग इस रोष में शामिल रहे हैं। इस हालत में लोकसभा सीटों को जीत पाना आसान नहीं होगा जबकि केंद्रीय नेतृत्व पंजाब भाजपा से जरूरत से अधिक उम्मीद लगाए हुए है।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You