Subscribe Now!

नशीले पदार्थां की तस्करी के लिए अफ्रीकी नागरिकों की करता था इस्तेमाल

  • नशीले पदार्थां की तस्करी के लिए अफ्रीकी नागरिकों की करता था इस्तेमाल
You Are HerePatiala
Thursday, November 14, 2013-5:09 PM

पटियाला: पंजाब पुलिस द्वारा 11 नवंबर को नई दिल्ली नजदीक से गिरफ्तार किए गए अंतर्राष्ट्रीय ड्रग तस्कर जगदीश भोला ने पुलिस रिमांड के दौरान कई अन्य अहम खुलासे किए हैं।

इस संबंधी विस्तार के साथ जानकारी देते हुए एस.एस.पी. हरदयाल सिंह मान ने बताया कि कुश्ती जगत में किंग के तौर पर जाने जाते जगदीश भोला को फिल्मी दुनिया में भी दिलचस्पी थी तथा उसने अपने जीवन पर बब्बी बैनीपाल द्वारा बनाई गई पंजाबी फिल्म रुस्तम-ऐ-हिन्द में अहम भूमिका निभाई थी। उन्होंने और बताया कि जगदीश भोला की पूछताछ दौरान यह भी सामने आया है कि उसके द्वारा सिंथैटिक ड्रग को चंडीगढ़ से नई दिल्ली लेकर जाने के लिए अफ्रीकी नागरिकों की कोरियर के तौर पर इस्तेमाल किया जाता था।

मान ने बताया कि जांच में राबर्ट, जोअ तथा डेविड के नाम सामने आए हैं। एस.एस.पी. ने बताया कि यह भी पता चला है कि पंजाब पुलिस की गिरफ्त में आने से बचने के लिए भागे भोले ने पहले कुछ समय गोवा में पंजम में बिताया। वह अपने नशीले पदार्थां के कारोबार के पैसे को गोवा के होटल व्यापार में निवेश करना चाहता था। उसके द्वारा गोवा के बाघा बीच पर एक 16 करोड़ रुपए के होटल का सौदा करने में दिलचस्पी दिखाई गई थी।

एस.एस.पी. मान ने बताया कि जगदीश भोला ने अैफैडराईन व सूडोअैफडराईन जैसे रासायणिक पदार्थां से आईस (एैम-एैफाईटा) जैसे सिंथैटिक ड्रग तैयार करने की जुगत चीन व वीयतनाम के नागरिकों से सिखी व धीरेधीरे उसमें मुहारत हासिल की। उन्होंने बताया कि उसने यह काम मोहाली के फेज 10 स्थित अपने मकान नंबर 984 से शुरू किया था। आईस के निर्माण समय तापमान 200 डिग्री से ऊपर पहुंच जाता है, जिस कारण एक बार उसके घर में एक धमाका भी हुआ था।
 

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You