‘ऑपरेशन ब्लू स्टार में ब्रिटेन की मदद का कोई सवाल ही नहीं’

  • ‘ऑपरेशन ब्लू स्टार में ब्रिटेन की मदद का कोई सवाल ही नहीं’
You Are HereNational
Thursday, January 16, 2014-11:05 AM

 नई दिल्ली: अमृतसर के स्वर्ण मंदिर में 1984 के ऑपरेशन ब्लू स्टार में अद्र्ध सैनिक बल कर्मियों का नेतृत्व करने वाले एक पूर्व शीर्ष अधिकारी ने आज इन खबरों को खारिज कर दिया कि ब्रिटेन ने इस कार्यवाही की योजना बनाने और अंजाम देने में भारत की मदद की थी।

 
सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) के पूर्व प्रमुख बीरबल नाथ ने एक न्यूज एजेंसी को बताया, ‘‘मैंने हाल में इस संबंध में सामने आई खबरों को देखा है। लेकिन मैं विश्वास के साथ कह सकता हूं कि ब्रिटेन ने हमारी किसी प्रकार मदद नहीं की थी। इंदिरा गांधी काफी स्वाभिमानी महिला थीं....इस ऑपरेशन को तो जाने दीजिए वह किसी भी चीज के लिए किसी से याचना नहीं करती थीं।’’
 
उन्होंने कहा, ‘‘वह ऐसी प्रधानमंत्री थी जिनका दिल फौलाद का था। वह किसी भी संकट से पार पा सकती थी। इस काम के लिए किसी के द्वारा ब्रिटेन से मदद मांगने का कहीं से सवाल ही नहीं पैदा होता।’’
 
नाथ सितंबर 1984 में बीएसएफ महानिदेशक के पद से सेवानिवृत्त हुए थे। वह जून 1984 में हुए अभियान की योजना बनाने में शामिल थे और उन्होंने ब्लू स्टार ऑपरेशन में सेना की मदद करने वाले बल के लिए उपयुक्त दस्ता चुनने में भूमिका निभाई थी। पूर्व डीजी ने कहा कि भारतीय बल एवं सेना स्वयं ही अभियान चलाने में सक्षम हैं और यह पूरी तरह से उनका अभियान था।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You