ब्लू स्टार की सच्चाई के लिए पत्राचारों को सार्वजनिक करने की मांग

  • ब्लू स्टार की सच्चाई के लिए पत्राचारों को सार्वजनिक करने की मांग
You Are HereNational
Thursday, February 06, 2014-3:29 PM

नई दिल्ली: शिरोमणि अकाली दल ने 1984 के सिख दंगों पर ब्रिटिश सरकार के खुलासे के मद्देनजर सरकार से तत्कालीन ब्रिटिश सरकार के साथ हुए सभी पत्राचारों और संवादों को सार्वजनिक करने की मांग की है। शिरोमणि अकाली दल की सांसद हरसिमरत कौर ने आज यहां संसद परिसर में संवाददाताओं से कहा कि ब्रिटिश सरकार के इस बयान के बाद कि स्वर्ण मंदिर में आपरेशन ब्लू स्टार से करीब 10 माह पहले तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने ब्रिटिश सरकार से राय ली थी यह साबित हो गया कि इंदिरा गांधी ने राजनीतिक फायदे के लिए यह सोची समझी पूर्व नियोजित कार्रवाई की थी।

उन्होंने आपरेशन ब्लू स्टार की सच्चाई सामने लाने के लिए तत्कालीन ब्रिटिश और भारत सरकार के बीच हुए सभी पत्रचारों को सार्वजनिक करने की मांग की। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी की आलोचना करते हुए उन्होंने कहा कि वह एक ओर तो यह तो स्वीकार करते हैं कि 1984 के सिख विरोधी दंगों में उनकी पार्टी के कुछ नेता शामिल थे। दूसरी ओर कांग्रेस पार्टी केंद्रीय जांच ब्यूरो जैसी एजेंसियों का इस्तेमाल करके जगदीश टाइटलर जैसे नेताओं को बचाने की कोशिश की है।

भारतीय जनता पार्टी के नेता एम वेंकैया नायडू ने भी स्वर्ण मंदिर में सैन्य कार्रवाई का सच सामने लाने के लिए तत्कालीन ब्रिटिश और भारत सरकार के बीच संवादों को सामने लाने की मांग करते हुए कहा कि सरकार को इस मामले पर बयान देना चाहिए। वर्ष 2002 के गुजरात दंगों और 1984 के दंगों की तुलना को बेवजह बताते हुए उन्होंने कहा कि इस तरह की घटनाओं से सीख लेकर हमें आगे बढना चाहिए लेकिन यदि एक दंगे को प्रचारित किया जाएगा तो सभी दंगों पर चर्चा होगी।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You