आप्रेशन ब्लू स्टार के बाद मैंने काफी समय जेल में बिताया: बादल

You Are HereNational
Saturday, February 08, 2014-1:19 PM

चंडीगढ: पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री कैप्‍टन अमरिंदर सिंह ने मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल पर आपरेशन ब्लू स्टार जैसे गंभीर मुद्दे से सियासी लाभ उठाने की कोशिश करने का आरोप लगाया है। उन्होंने आज यहां कहा कि बादल ने ब्लू स्टार आपरेशन से पहले और बाद में कई बड़ी गलतियां की और बाद में खुद बचने के लिए उत्तराखंड के बाजपुर फार्म हाऊस में जाकर छिप गए। अब वह राजनीतिक लाभ लेने के लिए विशेष हितों के लिए अब इस मुद्दे को राजनीतिक रंग दे रहे हैं।

उन्होंने बादल को चुनावों के वक्त लोगों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ नहीं करने की सलाह देते हुए कहा कि पंजाब की अमन शांति को बनाअमन शांति रखा जाए। बादल 26 मई 1984 को दिल्ली गैस्ट हाऊस में हुई बैठक में अपने दो साथियों के साथ तीन केन्द्रीय मंत्रियों से मिले थे और बैठक के बाद वह तत्काल पंजाब के लिए रवाना हो गए थ। बादल खुद जाकर छिप गए। एक जून 1984 को पुलिस तथा सी.आर.पी.एफ. ने श्री दरबार साहिब को घेर लिया था। ऐसे में वह पंजाब क्यों नही लौटे थे।

उन्होंने खुलासा किया कि बादल ने बी.बी.सी के पत्रकार मार्क टुली तथा सतीश जेकब के फोन उठाने भी बंद कर दिए थे। जैसे कोई उनकी गलतियों के लिए उनके बेटे सुखबीर बादल को आरोपी नहीं ठहरा सकता वैसे ही कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को ब्लू स्टार आपरेशन के लिए मांफी मांगने को वह नहीं कह सकते क्योंकि गांधी उस वक्त मात्र 13 सालों के थे।

उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार हर मोर्चे पर विफल रही है। इसके लिए बादल बराबर के जिम्मेदार हैं। राज्य का उद्योग चौपट हो रहा है तथा कई यूनिटें बाहर जा चुके हैं और पंजाब पर कर्जा एक लाख करोड़ को पार कर चुका है और बड़े स्तर पर बेरोजगारी है। उन्होंने बादल को दूसरों पर आरोप लगाने से पहले अपने गिरेबान में ऊाांकने की सलाह दी है और मौजूदा हालात में सिख दंगों के मुद्दे का राजनीतिक लाभ लेने की कोशिश नहीं करनी चाहिए।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You