अब भारत और पाकिस्तान के आपसी रिश्ते सुधरेंगे

  • अब भारत और पाकिस्तान के आपसी रिश्ते सुधरेंगे
You Are HereNational
Sunday, March 02, 2014-11:49 AM

जालंधर: पाकिस्तान के फैसलाबाद स्थित गवर्नमैंट म्यूनीसिपल डिग्री कॉलेज से शिक्षाविदों का एक उच्च स्तरीय प्रतिनिधिमंडल पंजाब आया हुआ है जिसके सदस्यों ने यहां पंजाब केसरी निवास स्थान पर विजय चोपड़ा से मुलाकात की। शिक्षाविदों में कालेज के प्रिंसीपल प्रो. मोहम्मद याकूब अमजद, पूर्व प्रिंसीपल प्रो. मोहम्मद अशरफ महमूद, प्रो. मोहम्मद सुलेमान, मोहम्मद आबिद सलीम, प्रो. मोहम्मद ताहिर अशरफ तथा महमूद-उल-हसन तथा डा. नादीम सोहेल शामिल थे।

इन्हें खालसा कॉलेज जालंधर के प्रिंसीपल डा. जी.एस. समरा द्वारा कॉलेज के वार्षिक समारोह में आमंत्रित किया गया है। 65 वर्षों में पहली बार पाक कॉलेज से प्रतिनिधिमंडल खालसा कॉलेज पहुंचा है। शिक्षाविदों को संबोधित करते हुए विजय चोपड़ा ने कहा कि नवाज शरीफ के प्रधानमंत्री बनने तथा मुशर्रफ व कियानी की विदाई के बाद अब भारत व पाकिस्तान के रिश्ते सुधरने की शुरूआत हो गई है।

उन्होंने कहा कि नवाज शरीफ ने चुनावों के दौरान भारत के साथ संबंध बेहतर बनाने का एजैंडा उठाया था जिस कारण उनकी पार्टी की जीत हुई। उपचुनावों में भी उन्होंने भारत-पाक संबंध बेहतर बनाने की बात कही। उन्होंने कहा कि दोनों देशों के लोग शांति चाहते हैं। उन्होंने कहा कि इससे पहले जब नवाज शरीफ प्रधानमंत्री बने थे तो उस समय भी उन्होंने भारत से संबंध बेहतर बनाने के लिए तत्कालीन भारतीय प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को पाकिस्तान आमंत्रित किया था परन्तु उस समय जनरल मुशर्रफ ने पीठ में छुरा घोंपते हुए कारगिल में हमला करवा दिया था। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह की अमरीका यात्रा के दौरान भी उन्होंने यही तर्क दिया था कि पाक से रिश्ते सुधरने की शुरूआत हो चुकी है।

उर्दू भाषा की सराहना करते हुए श्री चोपड़ा ने कहा कि इसका मुकाबला तो अंग्रेजी भाषा भी नहीं कर सकती है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान की मशहूर लेखिका बुशरा रहमान का नावल भी उनके समूह के समाचार पत्रों में प्रकाशित किया जा रहा है। आरंभ में कुछ लोगों ने पाक लेखिका का नावल प्रकाशित करने पर ऐतराज जताया था परन्तु तब उन्होंने यह तर्क दिया था कि मुस्लिम होना कोई गुनाह नहीं है। उन्होंने कहा कि विभाजन से पहले पाकिस्तान में शाम को समाचार पत्र प्रकाशित होते हैं परन्तु बाद में ये सुबह प्रकाशित होने शुरू हुए।

पाकिस्तान के ‘जंग’ अखबार ने कम्प्यूट्रीकरण को सबसे पहले अपनाया था जिसके बाद इसका अनुसरण हिंद समाचार द्वारा किया गया।
पाक से आए प्रो. मोहम्मद याकूब अमजद ने श्री चोपड़ा द्वारा कही बातों पर सहमति जताते हुए कहा कि पाकिस्तान में अब हालात सुधर रहे हैं तथा नवाज शरीफ के आने के बाद हिंदुस्तान के साथ दोस्ती का एक नया आयाम शुरू होने की उम्मीदें हैं। पाक के लोग भारत से अच्छे संबंध चाहते हैं।

यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!

Recommended For You