जेटली की सीट पर रहस्य बरकरार

  • जेटली की सीट पर रहस्य बरकरार
You Are HereNational
Wednesday, March 12, 2014-5:30 PM

नई दिल्ली: भाजपा में सीटों के बंटवारे को लेकर रस्साकशी जारी है मगर अरुण जेटली की सीट को लेकर रहस्य बना हुआ है। वरिष्ठ नेता एल.के. अडवानी, मुरली मनोहर जोशी, कलराज मिश्र, लाल जी टंडन अपनी लोकसभा सीटों के लिए संघर्ष कर रहे हैं। राज्यसभा में विपक्ष के नेता अरुण जेटली पर पार्टी यूनिटों की तरफ से दबाव डाला जा रहा है कि वह उनके राज्य से चुनाव लड़ें।

पंजाब के उप-मुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने विशेष रूप से जेटली को फोन पर अमृतसर से चुनाव लडऩे को कहा। भाजपा प्रदेश यूनिट पहले ही अमृतसर सीट के लिए उनके नाम को उच्चकमान के पास भेज चुकी है क्योंकि मौजूदा लोकसभा सांसद नवजोत सिंह सिद्धू को पार्टी में समर्थन नहीं है। सुखबीर ने जेटली को बताया, ‘आपको केवल नामांकन पत्र पर हस्ताक्षर करने हैं नामांकन पत्र भरने के लिए यहां आना पड़ेगा और उसके बाद आप दिल्ली चले जाना, आपको भारी अंतर से जीत का आश्वासन देते हैं।’

राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे सिंधिया चाहती हैं कि जेतली जयपुर से चुनाव लड़ें जोकि एक सुरक्षित सीट है। नरेन्द्र मोदी ने भी जेटली से कहा है कि वह गुजरात से चुनाव लड़ें क्योंकि जेटली राज्यसभा में गुजारत के प्रतिनिधि हैं। दिल्ली भाजपा अध्यक्ष हर्षवर्धन महसूस करते हैं कि जेतली के दिल्ली से चुनाव लडऩे पर वर्करों में नया जोश आएगा।

यद्यपि भाजपा 2009 के चुनावों में दिल्ली की सभी 7 लोकसभा सीटें भारी अंतर से हार गई थी, मगर पार्टी नेतृत्व को उम्मीद है कि अब बदलाव की लहर चल रही है। वहीं जेतली ने अपने पत्ते बंद रखे हुए हैं। राजनीतिक तौर पर वह अमृतसर से चुनाव लडऩा पसंद करेंगे क्योंकि वह एक पंजाबी हैं और अकालियों से उनके संबंध अच्छे हैं।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You