Subscribe Now!

इच्छा मृत्यु के लिए SC का दरवाजा खटखटाएंगे बिट्टा

  • इच्छा मृत्यु के लिए SC का दरवाजा खटखटाएंगे बिट्टा
You Are HereNational
Wednesday, April 02, 2014-6:05 PM

चंडीगढ़: अखिल भारतीय आतंकवाद विरोधी मोर्चा के अध्यक्ष मनिंदरजीत सिंह बिट्टा उन पर तथा पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी पर हुए कातिलाना हमले में खुफिया एजेंसियों की भूमिका की जांच तथा इच्छा मृत्यु की मांग को लेकर जल्द ही उच्चतम न्यायालय का दरवाजा खटखटाएंगे। 

बिट्टा ने आज यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि इसके अलावा वह बिहार में भारतीय जनता पार्टी के प्रधानमंत्री पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी की रैली में हुए धमाकों की पीछे की साजिश को बेनकाब करने के लिए भी अदालत से जांच की मांग करेंगे। 

उन्होंने आरोप लगाया कि वह और गांधी किसी बाहरी ताकत का नहीं बल्कि कांग्रेस में ही मौजूद विरोधियों के राजनीतिक हत्या के षडयंत्र का शिकार हुए। उन्होंने कहा कि इस बात की जांच होनी चाहिए कि क्यों 1993 में जानलेवा हमले से एक दिन पहले ही उनका सुरक्षा कवर हटा लिया गया। इसी तरह खुफिया एजेंसियों को जब यह मालूम था कि गांधी पर हमला हो सकता है तो क्यों उन्होंने सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम नहीं किए।

उन्होंने दावा किया कि तत्कालीन खुफिया एजेंसियों के प्रमुख अधिकारियों को सेवाकाल के दौरान और बाद में आला पदों से नवाजा गया। बिट्टा ने कांग्रेस नेतृत्व पर आरोप लगाया कि वह महज सिख और तमिल वोटों की खातिर और उन पर हमले के मुख्य आरोपी देविंदरपाल सिंह भुल्लर तथा  गांधी के हत्यारों को बचाने का प्रयास कर रही है।

जबकि वह दावे से कह सकते हैं कि न तो सिख और न ही तमिल कांग्रेस को आगामी चुनावों में वोट करेंगे। उन्होंने दावा किया कि भुल्लर की फांसी की सजा को लेकर उच्चतम न्यायालय में पक्ष न रखने का फैसला सरकार का नहीं बल्कि पार्टी नेतृत्व का है। उन्होंने दावा किया कि भुल्लर मानसिक तौर पर अस्वस्थ नहीं है इसकी जांच देश के बाहर किसी भी डाक्टर से करा ली जाए तथा इसका समस्त खर्च वह उठाने को तैयार हैं। 

बिट्टा ने कहा कि वह आज भी कांग्रेसी हैं लेकिन पार्टी नेतृत्व ने उन्हें धोखा दिया है। उन्होंने पार्टी नेतृत्व पर उन सभी अपने नेताओं के विश्वासघात करने और उन्हें मझधार में छोड़ देने का आरोप लगाया। जिन्होंने देश की खातिर और आतंकवाद के खिलाफ बलिदान दे दिया।

अपना सही जीवनसंगी चुनिए| केवल भारत मैट्रिमोनी पर- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन

Recommended For You