यूथ गेम्स में भारत हुआ शर्मसार, चीन ने लौटाए हमारे 17 एथलीट्स

  • यूथ गेम्स में भारत हुआ शर्मसार, चीन ने लौटाए हमारे 17 एथलीट्स
You Are HereSports
Monday, August 19, 2013-12:44 PM

नई दिल्ली: चीन में होने वाले दूसरी एशियन यूथ गेम्स में भाग लेने वाले 17 भारतीय खिलाडिय़ों को ओवरएज पाया गया है। अब ये खिलाड़ी स्पर्धा में भाग नहीं लेंगे। इन खेलों के लिए कुल 27 ट्रैक एवं फील्ड एथलीटों का चयन किया गया, जबकि 25 नानजिंग (चीन) पहुंचे थे। इन 25 में से 17 स्वदेश लौट रहे हैं।

 

इन 17 को 17 वर्ष की उम्र से अधिक पाया गया है। बचे हुए 8 ट्रैक एवं फील्ड स्पर्धा में भाग लेंगे। चीन के नानजिंग में दूसरे युवा एशियाई खेलों से बैडमिंटन खिलाडिय़ों के बाहर किए जाने के बाद 17 ट्रैक एवं फील्ड एथलीट भी अधिकारियों की गलती के कारण स्वदेश लोटने के लिए तैयार हैं, क्योंकि भारतीय एथलेटिक्स महासंघ (एएफआई) ने इन खेलों में अधिक उम्र के खिलाडिय़ों को भेज दिया है।

 

युवा खेलों अंडर-17 एथलीटों के लिए होते हैं, जिनका जन्म जनवरी 1997 के बाद हुआ हो, लेकिन एएफआई ने 1996 में जन्में 17 एथलीटों को दल में शामिल कर लिया। इसमें स्वर्ण पदक की दावेदार दुती चंद भी शामिल हैं, जिन्हें बालिका वर्ग के 100 मीटर और 200 मीटर जीतने का दावेदार माना जा रहा था। भारत में अंडर 18 उम्र के एथलीट युवा प्रतियोगिताओं में भाग लेने के लिए योग्य होते हैं। एएफआई के सूत्र ने कहा, ‘हां, वे स्वदेश लौट रहे हैं, क्योंकि चीन में आयोजकों ने खेलों में उनकी भागीदारी से इनकार कर दिया।’

 

पता चला है कि तीन सदस्यीय एएफआई चयन समिति ने टीम का चयन किया था और इन्हें सीधे खेल मंत्रालय को भेज दिया था, क्योंकि भारतीय ओलंपिक संघ पर प्रतिबंध लगा हुआ है। ये तीन सदस्य सचिव सीके वाल्सन, जूनियर चयन समिति के मुख्य राजिंदर सिंह सैनी और एएफआई के कार्यकारी ए के केसरी हैं। चार भारतीय बैडमिंटन खिलाडिय़ों को खेलों के बैडमिंटन ड्रॉ में शामिल नहीं किया गया था, क्योंकि भारतीय बैडमिंटन संघ ने इनकी प्रविष्टियां देर से भेजी थीं।

 

भारतीय एथलीट युवा खेलों में व्यक्तिगत ओलंपिक एथलीट के तौर पर एशिया ओलंपिक परिषद के बैनर तले भाग ले रहे हैं, क्योंकि आईओए पर इस समय प्रतिबंध लगा हुआ है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You