रणजी सत्र में नहीं खेल पाएंगे तिवारी

  • रणजी सत्र में नहीं खेल पाएंगे तिवारी
You Are HereSports
Tuesday, August 27, 2013-9:59 AM

नई दिल्ली: करियर को खतरे में डालने वाली घुटने की दो सर्जरी के बाद मनोज तिवारी लंदन से लौट चुके हैं और वह रणजी ट्रॉफी क्रिकेट टूर्नामेंट के आगामी टूर्नामेंट में बंगाल की ओर से नहीं खेल पाएंगे।

 

तिवारी ने कहा, ‘‘आप किस्मत से नहीं लड़ सकते। डा. एंड्रयू विलियम्स ने मुझे विशेष तौर पर कहा है कि रिहैबिलिटेशन के लिए कम से कम चार महीने की जरूरत है और मुझे इसी हिसाब से आगे बढऩा होगा। फिलहाल मैं एक बार में एक दिन को ध्यान में लेकर चल रहा हूं। मैं खेलना शुरू करने से पहले फिट होना चाहता हूं। मैं रणजी ट्रॉफी के अंतिम चरण में वापसी के बारे में भी नहीं सोच रहा हूं।’’

 

भारत की ओर से आठ एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय मैच और तीन टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेलने वाले तिवारी ने कहा, ‘‘मैं अब भी बैसाखियों के सहारे से चल रहा हूं लेकिन मुझे रोजाना फिजियोथेरेपी के सात से आठ ड्रिल करने होते हैं। यह मेरे रिहैबिलिटेशन कार्यक्रम का हिस्सा है। डाक्टर और वहां मौजूदा बीसीसीआई फिजियो प्रगति से खुश हैं। लेकिन पहली सर्जरी के बाद अंदरूनी तौर पर खून बहने से मुझे दूसरी सर्जरी की जरूरत पड़ी इसलिए निश्चित तौर पर इससे उबरने में समय लगेगा।’’ तिवारी ने स्वीकार किया कि जब उन्होंने पता चला कि दूसरी सर्जरी की जरूरत पड़ेगी तो वे मायूस हो गए थे।

 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You