आईबीएल को पहले सत्र में उठाना पड़ा 25 करोड़ का नुकसान

  • आईबीएल को पहले सत्र में उठाना पड़ा 25 करोड़ का नुकसान
You Are HereSports
Saturday, September 07, 2013-5:27 PM

नई दिल्ली: हाल ही में संपन्न हुए इंडियन बैडमिंटन लीग (आईबीएल) से भले ही आने वाले समय में आईपीएल को टक्कर देने की उम्मीद की जा रही हो लेकिन लीग को अपने पहले संस्करण में 25 करोड़ रुपए का घाटा उठाना पड़ा है। मीडिया खबरों के अनुसार आईबीएल को पहले संस्करण में 25 करोड़ रुपए से अधिक का नुकसान उठाना पड़ा है।

आईबीएल के व्यावसायिक साझेदार स्पोर्टी सोल्यूशन के अनुसार पहले संस्करण में लीग पर करीब 85 करोड़ रुपए खर्च हुए जबकि इससे 65 से 70 फीसदी तक ही राजस्व वसूली हुई। रिपोर्ट के अनुसार प्रायोजक फीस, टाइटल प्रायोजक वोडाफोन मीडिया अधिकार, साजो समान बिक्री, टिकट बिक्री और फ्रेंचाइजी फीस आईबीएल के राजस्व का मुख्य जरिया हैं।

लेकिन इसके बावजूद आईबीएल लाभ कमाने में विफल रही। हालांकि आईबीएल के आयोजक पहले संस्करण में घाटे के बावजूद इसके दूसरे संस्करण में टीमों की संख्या में वृद्धि करने पर विचार कर रहे हैं। संभवत: आईबीएल के दूसरे संस्करण में दो और टीमों को लीग का हिस्सा बनाया जाएगा जिससे टीमों की संख्या बढकर आठ हो सकती है।

टीम मालिकों को प्रेचाइजी फीस, खिलाडिय़ों की फीस और मार्केटिंग फीस सहित करीब 6.73 करोड़ रुपए सालाना इसमें निवेश करना होगा। इसके अलावा ब्राडकास्टर और टीम मालिकों को भी उम्मीद है कि आने वाले समय में इसकी लोकप्रियता में और वृद्धि होगी। आईबीएल को नुकसान की मुख्य वजह इसके प्रति प्रायोजकों की बेरूखी भी रही। आईबीएल के साथ 50 से 60 कंपनियां और छोटे बड़े ब्रांड जुड़े लेकिन उसे बड़े प्रायोजक नहीं मिल सके।
 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You