भारत हॉकी विश्वकप-2018 की मेजबानी की दौड़ में

  • भारत हॉकी विश्वकप-2018 की मेजबानी की दौड़ में
You Are HereSports
Wednesday, September 11, 2013-12:18 PM

लुसाने: हॉकी विश्वकप-2018 की मेजबानी के लिए दावेदारी करने वाले पांच देशों में भारत भी शुमार है। पुरुष हॉकी विश्वकप की मेजबानी के लिए अब तक चार आधिकारिक प्रस्ताव किए जा चुके हैं तथा महिला हॉकी विश्वकप की मेजबानी के लिए तीन प्रस्ताव हुए हैं। ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड, भारत, मलेशिया और न्यूजीलैंड ने अपने यहां मौजूद सर्वोत्तम खेल सुविधाओं के जरिए विश्वकप की अपनी दावेदारी को मजबूती देने की कोशिश की है।

भारत इससे पहले 2010 में नई दिल्ली में तथा 1982 में बंबई में पुरुष हॉकी विश्वकप की मेजबानी कर चुका है। अंतर्राष्ट्रीय हॉकी महासंघ (एफआईएच) ने मंगलवार को एक वक्तव्य जारी कर कहा, ‘‘एफआईएच को यह बताते हुए अपार खुशी हो रही है कि उसे हॉकी विश्वकप की मेजबानी करने के इच्छुक पांच देशों की ओर से सात उच्च गुणवत्ता वाले प्रस्ताव मिले हैं।’’

मेजबानी के लिए दावेदारी की प्रक्रिया के तहत एफआईएच ने 31 दिसंबर से पहले दावेदारी की आधिकारिक प्रश्नावली जमा करने का अनुरोध किया है। वर्ष के शुरू में मेजबानी की इच्छा व्यक्त करने वाले छह देशों में पांच देशों के प्रस्ताव एफआईएच प्राप्त कर चुका है। विश्वकप दावेदारी की अगली प्रक्रिया के अंतर्गत प्रत्येक दावेदारी के दावे का विश्लेषण किया जाएगा, तथा इसके बाद प्रत्येक देश के संघ के साथ विचार-विमर्श और उस देश में आयोजन स्थलों का दौरा किया जाएगा।

आखिर में एफआईएच की कार्यसमिति सात नवंबर को दावेदारी पर अपना अंतिम फैसला सुनाएगी। दावेदारी के नए स्वरूप के तहत 2015 से 2018 के बीच अब तक गैर आवंटित सभी खेल आयोजनों को वर्ष के आखिर तक सुनिश्चित कर लिया जाएगा। इसके तहत 2015 से 2018 के बीच होने वाले 20 खेल आयोजनों सहित पुरुष एवं महिला इनडोर विश्वकप-2019 को एफआईएच को अब तक मिले 54 प्रस्तावों में आवंटित किया जाएगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You