धमाधम क्रिकेट में मुंबई के बादशाह ही बने रहे तेंदुलकर

  • धमाधम क्रिकेट में मुंबई के बादशाह ही बने रहे तेंदुलकर
You Are HereSports
Friday, September 20, 2013-2:54 PM

नई दिल्ली: सचिन तेंदुलकर ने टेस्ट और एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय मैचों में भारत की तरफ से भले ही दुनिया भर में अपनी बल्लेबाजी का डंका बजाया हो लेकिन क्रिकेट के सबसे छोटे प्रारूप ट्वेंटी 20 में यह स्टार बल्लेबाज मुंबई का बादशाह ही बना रहा। तेंदुलकर ने अपने ट्वेंटी 20 करियर की शुरूआत भले ही भारत की तरफ से की थी लेकिन इसके बाद उन्होंने क्रिकेट के इस छोटे प्रारूप में अपने सभी मैच मुंबई या फिर मुंबई इंडियंस की तरफ से खेले।

उन्होंने अब तक अपने 91 मैचों में से 90 मैच इन दोनों टीमों की तरफ से खेले हैं। वह अब आखिर बार वर्तमान में चल रही चैंपियन्स लीग ट्वेंटी 20 में इस छोटे प्रारूप में खेलते हुए दिखेंगे। उन्होंने इस साल आईपीएल से संन्यास ले लिया था। भारतीय क्रिकेट बोर्ड की तरह तेंदुलकर ने भी शुरू में इस छोटे प्रारूप के प्रति ज्यादा दिलचस्पी नहीं दिखायी। भारत ने एक दिसंबर 2006 को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जब अपना पहला टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेला था तो तेंदुलकर उस मैच में खेले थे और उन्होंने दस रन बनाये थे।

इसके बाद वह युवाओं को मौके देने के लिये भारत की तरफ से इस प्रारूप में नहीं खेले। तेंदुलकर हालांकि आईपीएल में मुंबई इंडियंस के आइकन खिलाड़ी बने और शुरू से लेकर अब तक वह इसी फ्रेंचाइजी टीम से जुड़े रहे। इससे पहले उन्होंने 2007 में मुंबई की रणजी टीम की तरफ से तमिलनाडु, हरियाणा, मध्यप्रदेश और बंगाल के खिलाफ चार टी20 मैच खेले थे। उन्होंने इस प्रारूप में अपना पहला अर्धशतक तमिलनाडु के खिलाफ 16 अप्रैल 2007 को मोटेरा अहमदाबाद में लगाया था।

तेंदुलकर ने तब केवल 32 गेंद पर 10 चौकों और दो छक्कों की मदद से 68 रन बनाये थे। तेंदुलकर ने हरियाणा के खिलाफ अगले मैच में 69 रन बनाये लेकिन आईपीएल में मुंबई इंडियंस की तरफ से खास कमाल नहीं दिखा पाये। आईपीएल के पहले सत्र में उनके नाम पर केवल एक अर्धशतक दर्ज था। आईपीएल के अगले सत्र में उन्होंने दो अर्धशतक जमाये लेकिन 2010 में उनका बल्ला खूब चला। उस सत्र में उन्होंने 15 मैच में 618 रन बनाकर सर्वाधिक रन बनाने के लिये ओरेंज कैप हासिल की थी।

इस स्टार बल्लेबाज ने टी20 में अपना पहला और एकमात्र शतक 15 अप्रैल 2011 को मुंबई इंडियंस की तरफ से कोच्चि टस्कर्स केरल के खिलाफ लगाया था। उन्होंने 66 गेंदों पर 12 चौकों और तीन छक्कों की मदद से 100 रन बनाये लेकिन उनकी टीम यह मैच हार गई थी। तेंदुलकर ने इस तरह से आईपीएल में सर्वाधिक 78 टी20 मैच खेले जिनमें उन्होंने 34.83 की औसत से 2334 रन बनाये। इसमें एक शतक और 13 अर्धशतक शामिल हैं।

वह चैंपियन्स लीग में भी अब तक आठ मैच खेल चुके हैं जिनमें उनके नाम पर 24.37 की औसत से 195 रन दर्ज हैं। उनका सर्वाधिक स्कोर 69 रन है जो उनका एकमात्र अर्धशतक भी है। भारत की तरफ से एक मैच में दस रन बनाने वाले तेंदुलकर ने मुंबई की रणजी टीम की तरफ से अंतर्राज्यीय टी20 टूर्नामेंट में चार मैचों में 40.75 की औसत से 163 रन बनाये। इस तरह से तेंदुलकर ने अब तक कुल 91 टी20 मैचों में 34.08 की औसत से 2727 रन बनाये हैं जिसमें एक शतक और 16 अर्धशतक दर्ज हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You