न्यायालय के निर्देशों के बावजूद श्रीनिवासन का लगातार तीसरे साल अध्यक्ष बनना तय

  • न्यायालय के निर्देशों के बावजूद श्रीनिवासन का लगातार तीसरे साल अध्यक्ष बनना तय
You Are HereSports
Saturday, September 28, 2013-3:26 PM

चेन्नई: विवादों से घिरे एन श्रीनिवासन का बीसीसीआई की कल होने वाली आमसभा की बैठक में निर्विरोध अध्यक्ष चुना जाना तय है हालांकि उच्चतम न्यायालय के निर्देशों के कारण वह बतौर अध्यक्ष कार्यभार नहीं सभाल सकेंगे। तमिलनाडु के कद्दावर खेल प्रशासक श्रीनिवासन तीसरी बार बीसीसीआई का अध्यक्ष बनने की दौड़ में हैं।

वह अध्यक्ष पद तभी संभाल सकेंगे जब बिहार क्रिकेट संघ के सचिव आदित्य वर्मा द्वारा दायर याचिका पर उच्चतम न्यायालय अंतिम फैसला सुना देगा। ऐसी संभावना है कि श्रीनिवासन फिर से जगमोहन डालमिया को बोर्ड का कार्यवाहक अध्यक्ष बनायें लेकिन उन्हें अतिरिक्त अधिकार दिये जाने की उम्मीद नहीं है। ऐसे में सचिव बनने जा रहे संजय पटेल को सभी जरूरी दस्तावेजों पर हस्ताक्षर करने होंगे जब तक उच्चतम न्यायालय श्रीनिवासन को पद संभालने की अनुमति नहीं दे देता।

न्यायाधीशों ने इस बात पर आश्चर्य व्यक्त किया कि आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग के सिलसिले में दामाद गुरुनाथ मयप्पन के खिलाफ आरोप पत्र दाखिल होने के बावजूद श्रीनिवासन बीसीसीआई के पद पर डटे हुये हैं। न्यायाधीशों ने स्पष्ट किया कि इस मामले का निबटारा होने तक वह बोर्ड के अध्यक्ष पद का कार्यभार नहीं ग्रहण करेंगे।

इसके साथ ही न्यायाधीशों ने सवाल किया, ‘‘यदि दामाद पर आरोप पत्र दाखिल किया गया है तो फिर वह प्रभारी (बीसीसीआई के अध्यक्ष) क्यों बने हुये हैं? आप (श्रीनिवासन) निर्वाचित होने के लिये इतने उत्सुक क्यों हैं?’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You