चैंपियन लीग T-20: मुंबई की राजस्थान पर रॉयल जीत

  • चैंपियन लीग T-20: मुंबई की राजस्थान पर रॉयल जीत
You Are HereSports
Monday, October 07, 2013-5:39 AM

नई दिल्ली: सचिन तेंदुलकर और राहुल द्रविड़ के टी-20 से विदाई मैच के रूप में याद किए जाने वाले फाइनल में आज यहां मुंबई इंडियन्स ने आखिरी छह ओवरों के धमाल और हरभजन सिंह की उंगलियों के कमाल से राजस्थान रायल्स को 33 रन से हराकर दूसरी बार चैंपियन्स लीग का खिताब जीता।

सलामी बल्लेबाज ड्वेन स्मिथ (39 गेंद पर 44) ने शुरू में रन बनाने का जिम्मा उठाया लेकिन आखिरी छह ओवर में 98 रन बनने से पहले बल्लेबाजी का न्यौता पाने वाली मुंबई की टीम छह विकेट पर 202 रन के बड़े स्कोर तक पहुंची। रोहित (14 गेंद पर 33) और मैक्सवेल (14 गेंद पर 37) ने इन ओवरों में मुख्य रूप से रन बटोरे। रायल्स की तरफ से प्रवीण ताम्बे ने फिर से शानदार गेंदबाजी की तथा 19 रन देकर दो विकेट लिए।  

इसके जवाब में रायल्स एक समय अच्छी स्थिति में दिख रहा था। संजू सैमसन ने 33 गेंद पर चार चौकों और इतने छक्कों की मदद से 60 रन और अंजिक्य रहाणे ने 47 गेंद पर पांच चौकों और दो छक्कों की बदौलत 65 रन बनाए। इन दोनों ने दूसरे विकेट के लिये 67 गेंद पर 109 रन की साझेदारी की। इसके बाद हरभजन ने कहर ढाया तथा 32 रन देकर चार विकेट लिए। रायल्स आखिर में 18.5 ओवर में 169 रन पर ढेर हो गया। उसने आखिरी सात विकेट 14 रन के अंदर गंवाए। कीरेन पोलार्ड ने आखिरी तीन विकेट लिए।  

मुंबई को विजेता बनने पर 25 लाख डालर मिले। रायल्स को 13 लाख डालर से ही संतोष करना पड़ा। इससे पहले मुंबई 2011 में हरभजन की अगुवाई में चैंपियन बना था। चेन्नई सुपरकिंग्स चैंपियन्स लीग का खिताब जीतने वाली पहली भारतीय टीम थी। उसने 2010 में खिताब जीता था।

मुंबई ने आखिरी छह ओवर में धकाधूम किया तो रायल्स ने पावरप्ले के पहले छह ओवरों को निशाना बनाया। पहले ओवर में ही कुशाल परेरा (8) का विकेट गंवाने के बावजूद रायल्स ने पावरप्ले में 71 रन ठोके। सैमसन ने हरभजन पर छक्का जड़कर इसकी शुरूआत की। उन्होंने धवन की गेंद छह रन के भेजने के बाद नाथन कोल्टर नाइल का स्वागत एक छक्के और दो चौकों से किया। इस बीच रहाणे के बल्ले से भी दो छक्के निकले।

सैमसन ने इसके बाद ओझा की गेंद भी छह रन के लिए भेजी और कीरेन पोलार्ड पर चौका जड़कर केवल 23 गेंद पर अर्धशतक पूरा किया जिसमें तीन चौके और चार छक्के शामिल थे। इससे रायल्स का स्कोर नौ ओवर में तिहरे अंक में पहुंच गया। सैमसन की पारी का अंत आखिर में प्रज्ञान ओझा और हरभजन ने मिलकर किया।  सर्वाधिक रन बनाकर गोल्डन बैट बने रहाणे ने 37 गेंद पर लगातार चौथा अर्धशतक पूरा किया। वह चैंपियन्स लीग में लगातार चार अर्धशतक जडऩे वाले पहले बल्लेबाज हैं। शेन वाटसन (8) ने पोलार्ड पर छक्का जड़कर हरभजन की गेंद पर इसी कैरेबियाई को कैच थमाया जिससे मुंबई की उम्मीदें जगी।

हरभजन अचानक ही अपने पुराने रंग में लौट आए। उन्होंने एक ओवर में तीन विकेट निकालकर रायल्स की कमर तोड़ दी। इनमें रहाणे का विकेट भी शामिल था जिन्होंने सीमा रेखा पर कैच थमाया। इसके बाद उन्होंने स्टुअर्ट बिन्नी (10) और केवोन कूपर (4) को पवेलियन की राह दिखाई। राहुल द्रविड़ आखिरी बार सातवें नंबर पर बल्लेबाजी के लिए उतरे लेकिन केवल एक रन बनाकर बोल्ड हो गए। पोलार्ड ने 19वें ओवर में बाकी बचे तीनों विकेट भी निकाल दिए। 


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You