द्रविड़ को रॉयल्स से जोड़े रखना चाहते हैं अपटन

  • द्रविड़ को रॉयल्स से जोड़े रखना चाहते हैं अपटन
You Are HereSports
Monday, October 07, 2013-2:17 PM

नई दिल्ली: राहुल द्रविड़ ने भले ही अपना आखिरी टी20 मैच खेल लिया हो लेकिन राजस्थान रॉयल्स उन्हें अब विदाई देने के मूड में नहीं है और इस पूर्व भारतीय कप्तान को किसी न किसी रूप में टीम से जोड़े रखना चाहता है। चैंपियंस लीग के फाइनल में मुंबई कल रात इंडियन्स के हाथों हार के बाद रॉयल्स के कोच पैडी अपटन ने कहा कि द्रविड़ ने टीम को आगे बढ़ाने में अहम भूमिका निभायी और वह आगे भी किसी अन्य रूप में उनकी सेवाएं लेना पसंद करेगी।

अपटन ने कहा, ‘‘हमने रॉयल्स को आगे बढ़ाने के लिये जिस तरह तैयारी की उस पूरी प्रक्रिया का राहुल अभिन्न हिस्सा थे। उन तक पहुंचना हमेशा आसान रहता है और हम निश्चित तौर पर चाहेंगे कि वह किसी न किसी रूप में आगे भी हमसे जुड़े रहें। उनका कोई भी फैसला रॉयल्स की टीम के लिये अहम होगा।’’ इस दक्षिण अफ्रीकी ने इसके साथ ही संकेत दिये कि आगे रॉयल्स की कप्तानी ऑस्ट्रेलिया के शेन वाटसन को सौंपी जा सकती है।

उन्होंने कहा, ‘‘शेन वाटसन शुरू से ही टीम से जुड़े हैं और उन्होंने हमेशा टीम को आगे रखा। युवा खिलाडिय़ों के साथ उनके साथ बहुत अच्छे रिश्ते हैं। वह खिलाडिय़ों के बीच अंतर और विविधता को पाटने में सक्षम है। वह मैदान पर अपना महत्वपूर्ण योगदान देते रहे हैं। कोई और भी कप्तान बन सकता है कि लेकिन वह भी दावेदार है।’’

मुंबई के खिलाफ मैच में द्रविड़ को निचले क्रम में बल्लेबाजी के लिये भेजने के बारे में अपटन ने कहा, ‘‘बड़ा लक्ष्य होने के कारण यह फैसला किया गया और इसलिये कुशाल परेरा को पारी का आगाज करने के लिये भेजा। इससे पता चलता है कि राहुल किस तरह के व्यक्ति हैं। राहुल ने कहा कि जब हमें 12 से 15 रन प्रति ओवर चाहिए तब लंबे शाट खेलने वाले किसी खिलाड़ी को भेजना सही है। वह अपना आखिरी मैच खेल रहे थे लेकिन उन्होंने खुद पर टीम को तरजीह दी।’’

अपटन हालांकि अपने गेंदबाजों के प्रदर्शन से निराश दिखे जिन्होंने आखिरी दस ओवरों में 142 रन लुटाये और आखिर में यह निर्णायक साबित हुए। उन्होंने कहा, ‘‘हमें उन्हें 160 रन के करीब रोकना चाहिए था लेकिन ऐसा नहीं हो पाया। यदि हम ऐसा कर लेते तो जीत सकते थे। वास्तव में ऐसा नहीं करने से निराशा हुई। इसके बाद संजू सैमसन और अंजिक्य रहाणे ने हमें 15 ओवर तक मैच में बनाये रखा था लेकिन हमारे बाद के बल्लेबाजों ने अंतर पैदा किया। वे हमेशा अच्छा प्रदर्शन करते थे लेकिन इस बार नहीं कर पाये।’’

अपटन ने सैमसन की जमकर तारीफ की जिन्होंने 60 रन की तूफानी पारी खेली। उन्होंने कहा, ‘‘उसने दिखा दिया कि उसमें कौशल है। वह काफी परिपक्व है। वह भारतीय क्रिकेट के उदीयमान खिलाडिय़ों में से एक है।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You