फाकनर के तूफान में उड़ा भारत, आस्ट्रेलिया चार विकेट से जीता

You Are HereSports
Sunday, October 20, 2013-2:14 PM

मोहाली: जेम्स फाकनर के तूफानी अर्धशतक से आस्ट्रेलिया ने भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के धमाकेदार शतक को बेकार करते हुए शनिवार को यहां मेजबान टीम को तीसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच में चार विकेट से हराकर सात मैचों की श्रृंखला में 2-1 की बढ़त बना ली।

भारत के 304 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए फाकनर ने 29 गेंद में दो चौकों और छह छक्कों की मदद से नाबाद 64 रन की अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी खेलने के अलावा एडम वोजेस (88 गेंद में नाबाद 76) के साथ सिर्फ 8.2 ओवर में सातवें विकेट के लिए 91 रन की अटूट साझेदारी करके आस्ट्रेलिया को छह विकेट पर 304 रन तक पहुंचाकर जीत दिलाई।

इससे पहले भारत ने कप्तान धोनी (121 गेंद में नाबाद 139, 12 चौके, पांच छक्के) की तूफानी पारी की मदद से नौ विकेट पर 303 रन का मजबूत स्कोर खड़ा किया था। धोनी यहां पीसीए स्टेडियम पर शतक जड़ने वाले पहले भारतीय बल्लेबाज भी बने। उनके अलावा विराट कोहली ने भी 68 रन की उम्दा पारी खेली। लक्ष्य का पीछा करने उतरे आस्ट्रेलिया को आरोन फिंच (38) और फिलिप ह्यूज (22) ने पहले विकेट के लिए 68 रन जोड़कर एक बार फिर अच्छी शुरुआत दिलाई।

इस जोड़ी ने भुवनेश्वर कुमार, आर विनय कुमार और इशांत शर्मा की भारत की तेज गेंदबाजी तिकड़ी के खिलाफ आसानी से रन जोड़े। विनय कुमार ने ह्यूज को विकेटकीपर धोनी के हाथों कैच कराके इस साझेदारी को तोड़ा। भारतीय गेंदबाजों ने इसके बाद आस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों पर शिकंजा कसना शुरू किया। इशांत ने फिंच जबकि रविंद्र जडेजा ने शेन वाटसन (11) को पगबाधा आउट किया। अंपायरों के यह दोनों फैसले हालांकि टीवी रीप्ले में संदिग्ध दिखे। आस्ट्रेलिया ने 34वें ओवर में बल्लेबाजी पावर प्ले लिया लेकिन इस दौरान सिर्फ 28 रन बने जबकि टीम ने दो विकेट गंवा दिए।

कप्तान बैली विनय कुमार की सीधी गेंद को चूककर पगबाधा आउट हुए जबकि विस्फोटक बल्लेबाज ग्लेन मैक्सवेल (03) वोजेस के साथ गलतफहमी का शिकार होकर रन आउट हुए। बैली ने 60 गेंद में चार चौके और एक छक्का मारा। वोजेस ने अश्विन की गेंद पर एक रन के साथ 63 गेंद में अर्धशतक पूरा किया। आस्ट्रेलिया को अंतिम 11 ओवर में जीत के लिए 114 रन की दरकार थी। ब्रैड हैडिन ने कोहली के ओवर में छक्का और दो चौके सहित 18 रन जोड़े लेकिन भुवनेश्वर ने गेंदबाजी में वापसी करते हुए पहली गेंद पर ही उन्हें लांग आन पर जडेजा के हाथों कैच करा दिया। उन्होंने 16 गेंद में 24 रन बनाए।

टीम को अंतिम पांच ओवर में 66 रन की जरूरत थी। फाकनर ने ऐसे में इशांत के पारी के 48वें ओवर में चार छक्कों और एक चौके सहित 30 रन जुड़ाकर आस्ट्रेलिया को लक्ष्य के करीब पहुंचाय और फिर अंतिम ओवर में विनय कुमार पर छक्का जड़कर टीम को जीत दिला दी। उन्होंने इस दौरान सिर्फ 24 गेंद में अर्धशतक पूरा किया।

इससे पहले इस धोनी ने इस मैदान पर सर्वश्रेष्ठ व्यक्तिगत पारी खेली जिससे भारत ने विषम परिस्थितियों से उबरते हुए 300 से अधिक का स्कोर खड़ा किया। धोनी उस समय क्रीज पर उतरे जब भारत 13वें ओवर में 76 पर चार विकेट गंवाकर संकट में था। उन्होंने पहले कोहली के साथ पांचवें विकेट के लिए 72 और फिर अश्विन (28) के साथ सातवें विकेट के लिए 76 रन जोड़े। भारत ने अंतिम 10 ओवर में 101 रन बटोरे। (एजेंसी)


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You