आलराउंडर की कमी थोड़ा चिंता का विषय: धोनी

  • आलराउंडर की कमी थोड़ा चिंता का विषय: धोनी
You Are HereSports
Tuesday, November 05, 2013-4:04 PM

कोलकाता: भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने आज कहा कि एक अदद आलराउंडर की कमी चिंता का विषय है और टीम को रविंदर जडेजा जैसे किसी खिलाड़ी की जरूरत पड़ेगी जिन्हें कंधे की चोट के कारण वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट श्रृंखला से विश्राम दिया गया है। भारत सचिन तेंदुलकर की अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से विदाई श्रृंखला की शुरूआत कल यहां ईडन गार्डन्स पर पहले टेस्ट मैच से करेगा। जडेजा की अनुपस्थिति में टीम का संतुलन थोड़ा गड़बड़ा गया है।

धोनी ने मैच की पूर्व संध्या पर कहा, ‘‘यह थोड़ा चिंता का विषय है। मैं हमेशा से कहता रहा हूं कि हमें ऐसे तेज गेंदबाज या मुख्य स्पिनर की जरूरत है जो थोड़ा बल्लेबाजी भी कर सकता हो। कभी कभी आपको किसी खिलाड़ी के महत्व का अहसास नहीं होता है।’’ उन्होंने मैच की पूर्व संध्या पर कहा, ‘‘अब हमारे पास जडेजा नहीं है और हम सोच रहे हैं कि क्या पांचवां गेंदबाज रखा जाए या फिर एक और स्पिनर शामिल किया जाए जो बल्लेबाजी भी कर सकता हो। ऐसे में बल्लेबाजी थोड़ी कमजोर हो जाएगी।’’

भारतीय कप्तान ने कहा कि अभी बहुत अधिक विकल्प नहीं हैं। उन्होंने कहा, ‘‘हमें कोई ऐसा ढूंढना होगा जो यह भूमिका निभा सके। बी या सी योजना पर चलना हमेशा अच्छा रहता है। अभी हमारे पास ऐसे अधिक खिलाड़ी नहीं हैं जो यह भूमिका अच्छी तरह से निभा सकते हैं।’’ भारत गेंदबाजी लाइन अप को लेकर आशंकित है। उसने अभी तय नहीं किया है कि वह पांच गेंदबाजों के साथ उतरेगा या शानदार फार्म में चल रहे रोहित शर्मा को टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण का मौका देगा। रोहित को कामचलाउ आफ स्पिनर के रूप में भी उपयोग किया जा सकता है।

धोनी से पूछा गया कि क्या अजिंक्या रहाणे या रोहित शर्मा को छठे नंबर पर उतारा जा सकता है, उन्होंने कहा, ‘‘यह इस निर्भर करेगा कि हम चार गेंदबाजों के साथ उतरेंगे या पांचवां गेंदबाज रखेंगे या फिर किसी ऐसे खिलाड़ी को रखेंगे जो जरूरत पडऩे पर थोड़ी गेंदबाजी भी कर सके। यह महत्वपूर्ण फैसला होगा। भले ही यह एक फैसला होगा लेकिन इसके तीन पहलू हैं।’’

उन्होंने कहा, ‘‘यदि हम पांच गेंदबाजों के साथ उतरते हैं तो फिर संभवत: ये दोनों नहीं खेलेंगे। यदि हम किसी ऐसे खिलाड़ी को चाहेंगे जो थोड़ा गेंदबाजी भी कर सकता हो तो फिर रोहित खेलेगा। तीसरा यदि हम चार विशेषज्ञ गेंदबाजों के साथ उतरते हैं तो फिर अंजिक्य बना रहेगा।’’ भारत का शीर्ष क्रम हालांकि अच्छा है तथा चेतेश्वर पुजारा तीसरे नंबर पर अच्छी भूमिका निभा रहे हैं।

धोनी ने पुजारा की तारीफ करते हुए कहा, ‘‘वह शांतचित और तकनीकी रूप से बेहतरीन बल्लेबाज है। उसने बहुत अधिक घरेलू क्रिकेट और कई लंबी पारियां खेली हैं। वह टिककर खेलने वाला लेकिन स्पिनरों के खिलाफ आक्रामक है। वह खाली जगह देखकर रन बनाता हैं और अधिक चौके या छक्के नहीं जड़ता। वह अपनी सीमाएं जानता है और प्रथम श्रेणी क्रिकेट का अनुभव उसकी मदद करता है।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You