शतक बनाने की अपनी अच्छी आदत को बरकरार रखना चाहते हैं धवन

  • शतक बनाने की अपनी अच्छी आदत को बरकरार रखना चाहते हैं धवन
You Are HereSports
Thursday, November 28, 2013-1:12 PM

कानपुर: मार्च में भारतीय टीम में वापसी के बाद से बेहतरीन फार्म में चल रहे सलामी बल्लेबाज शिखर धवन चाहते हैं कि वह शतक बनाने की अपनी ‘अच्छी आदत’ बरकार रखें और सभी प्रारूपों में भारत के लिए और अधिक मैच जीते। धवन ने अपना पांचवां वनडे शतक जड़ते हुए वेस्टइंडीज के खिलाफ आज यहां तीसरे और अंतिम मैच में 95 गेंद में 119 रन की पारी खेली और भारत को पांच विकेट से जीत दिलाते हुए श्रृंखला 2.1 से जीतने में मदद की।

 

भारतीय टीम में वापसी के बाद से धवन अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में छह शतक बना चुके हैं जिसमें पदार्पण टेस्ट में मोहाली में खेली 187 रन की पारी भी शामिल है। धवन ने भारत के 23 गेंद शेष रहते अंतिम मैच जीतने के बाद प्रेस कांफ्रेंस में कहा, ‘‘मैं भगवान का आभारी हूं कि उसने मुझे इतना खूबसूरत साल दिया। मैं बेहद खुश हूं कि मैं काफी शतक बना रहा हूं। यह अच्छी आदत है और मैं अपनी टीम के लिए काफी मैच जीतकर इस आदत को बरकरार रखना चाहता हूं।’’

 

इस सलामी बल्लेबाज ने कहा कि उनके शतक का सबसे संतोषजनक पहलू यह रहा कि उनकी टीम आसानी से मैच जीतने में सफल रही। धवन ने कहा, ‘‘मैं बेहद खुश हूं कि मैंने शतक बनाया और टीम जीत गई। पिछले दो तीन मैचों से मैं अ‘छी शुरूआत कर रहा था लेकिन इसे बड़ी पारी में बदलने में नाकाम रहा। इससे बेहतर कुछ नहबं हो सकता था कि मैंने श्रृंखला के निर्णायक मैच में शतक बनाया।’’

 

भारत को अब अगले हफ्ते से दक्षिण अफ्रीका का दौरा करना है और धवन ने कहा कि वह इस दौरे पर अच्छा प्रदर्शन करने को लेकर आश्वस्त हैं। उन्होंने कहा, ‘‘जीत के साथ घरेलू श्रृंखला का अंत करना हमेशा अ‘छा होता है। जब मैं दक्षिण अफ्रीका जाउंगा तो यह शतक मुझे काफी आत्मविश्वास देगा।’’ कुछ महीने पहले धवन भारत ए टीम के साथ दक्षिण अफ्रीका गए थे और उन्होंने दक्षिण अफ्रीका ए के खिलाफ लिस्ट ए मैच में 248 रन की धमाकेदार पारी खेली थी।

 

उन्होंने कहा, ‘‘बेशक, दक्षिण अफ्रीका का पिछला दौरा :ए टीम के साथ: मेरे दिमाग में है। इससे मेरा आत्मविश्वास बढ़ेगा क्योंकि दक्षिण अफ्रीकी पिचों पर मैंने काफी रन बनाए थे। इससे मेरा मनोबल बढ़ा है और मैं दक्षिण अफ्रीका दौरे को लेकर उत्सुक हूं।’’ धवन ने 55 रन की पारी खेलने वाले युवराज सिंह की भी तारीफ की जो पिछले कुछ समय से खराब फार्म से जूझ रहे हैं।

 

उन्होंने कहा, ‘‘युवी पाजी आज जब बल्लेबाजी के लिए आए तो अच्छा खेल रहे थे। उन्होंने खूबसूरत पारी खेली और हमें दोनों ने अच्छी साझेदारी की। युवी पाजी के साथ बल्लेबाजी करना मेरे लिए बेहतरीन रहा क्योंकि मैंने उनसे काफी कुछ सीखा है।’’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You