पांच खिलाडिय़ों को रिटेन कर सकती हैं फ्रेंचाइजी: आईपीएल

  • पांच खिलाडिय़ों को रिटेन कर सकती हैं फ्रेंचाइजी: आईपीएल
You Are HereSports
Wednesday, December 25, 2013-10:14 AM

नई दिल्ली: इंडियन प्रीमियर लीग की फ्रेंचाइजी टीमों को 12 फरवरी को होने वाली आईपीएल 2014 की नीलामी के दौरान पांच खिलाडिय़ों को रिटेन करने की अनुमति दी जाएगी। इसके अलावा वह ‘राइट टू मैच’ के नए प्रावधान के तहत सीमित संख्या में खिलाडिय़ों को फिर से खरीद सकते हैं। आईपीएल संचालन परिषद ने आज लंबी बातचीत के बाद खिलाडिय़ों के अनुबंध, टीमों के संयोजन और 2014 की नीलामी के लिए खिलाडिय़ों को पहले रिटेन करने के संबंध में कई नए नियम बनाए।
 
बीसीसीआई ने कहा, ‘पेप्सी आईपीएल 2014 की खिलाडिय़ों की नीलामी 12 फरवरी को होगी और यदि जरुरी हुआ तो 13 फरवरी को भी नीलामी की जाएगी। इसके लिए स्थान की घोषणा जल्द की जाएगी।’ इसके अनुसार, ‘कोई एक फ्रेंचाइजी 2013 की अपनी टीम में से अधिकतम पांच खिलाडिय़ों (अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेटर या घरेलू क्रिकेटर में से कोई भी लेकिन इनमें अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेलने वाले भारतीय खिलाडिय़ों की संख्या चार से अधिक नहीं हो सकती) को रिटेन कर सकती है। इनमें वे खिलाड़ी भी शामिल हैं जो पिछले सत्र के दौरान उपलब्ध नहीं थे या जिन्हें अस्थायी बदलाव के रूप में टीम में रखा गया था।’

संचालन परिषद ने सेलरी कैप के बारे में कहा कि फ्रेंचाइजी टीमों को अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेल चुके पहले, दूसरे, तीसरे, चौथे और पांचवें खिलाड़ी को रिटेन करने पर क्रमश: 12.5 करोड़, 9.5 करोड़, 7.5 करोड़, 5.5 करोड़ और 4 करोड़ रुपए चुकाने होंगे।’ जिन खिलाडिय़ों को पहले रिटेन किया जाएगा उनके अलावा बाकी बचे हुए खिलाड़ी जो आईपीएल 2014 में खेलने के इच्छुक हैं उन्हें नीलामी प्रक्रिया में शामिल किया जाएगा।

नए दिशानिर्देशों के अनुसार 2014 में खिलाडिय़ों की नीलामी का प्रारूप भी पिछली बार जैसा ही होगा लेकिन प्रत्येक फ्रेंचाइजी के पास ‘राइट टू मैच’ की संख्या होगी जिनका उपयोग वह 2013 में अपनी टीम में रहे खिलाड़ी को खरीदने के लिए नीलामी के दौरान कर सकते हैं। यदि नीलामी से पहले कोई टीम पांच, चार या तीन खिलाडिय़ों को रिटेन करती है तो उसके पास ‘राइट टू मैच’ की संख्या एक होगी। लेकिन यदि रिटेन किये गये खिलाडिय़ों की संख्या दो, एक या शून्य होती है तो फिर राइट टू मैच की संख्या क्रमश: दो, दो और तीन हो जाएगी।

नियमों के अनुसार, ‘यदि फ्रेंचाइजी ‘राइट टू मैच’ का उपयोग करना चाहती है तो उसे खिलाड़ी को उस राशि पर खरीदना होगा जो नीलामी के दौरान पर उस पर आखिरी बोली लगी हो। इसके बाद कोई भी अन्य फ्रेंचाइजी उस पर बोली नहीं लगा सकती। कोई भी फ्रेंचाइजी पहले खिलाडिय़ों को रिटेन करने या राइट टू मैच के जरिए भारत के चार अंतर्रष्ट्रीय क्रिकेटरों को ही टीम में रख सकती है।’


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You