डरबन टेस्ट: भारत का स्कोर-83/1

  • डरबन टेस्ट: भारत का स्कोर-83/1
You Are HereSports
Thursday, December 26, 2013-4:17 PM

डरबन: आत्मविश्वास से लबरेज युवाओं से भरी महेन्द्र सिंह धोनी की टीम इंडिया के पास आज यहां दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टैस्ट सीरीज जीतने का ऐतिहासिक मौका है। आपको बता दें कि भारत ने टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी करने का किया है। भारत का स्कोर-83\1 है। चेतेश्वर पुजारा (नाबाद 19) और मुरली विजय (नाबाद 34) क्रीज पर मौजूद हैं। शिखर धवन के रूप में भारत का पहला विकेट गिरा।

 
टीम इंडिया ने जोहान्सबर्ग में जिस तरह से दुनिया की नंबर एक टीम दक्षिण अफ्रीका को पहले 4 दिन बैकफुट पर रखा उससे यह बात साबित हो गई है कि धोनी के धुरंधरों का आत्मविश्वास किस चरम पर है। इन खिलाडिय़ों ने दिखा दिया है कि वे घर में ही नहीं बल्कि विदेशी जमीन पर भी विपरीत परिस्थितियों में अपने हाथ दिखाने में सक्षम हैं। जोहान्सबर्ग टैस्ट में विराट कोहली और चेतेश्वर पुजारा ने जहां बल्लेबाजी में धमाल किया तो वहीं दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी में गेंदबाजों ने कहर बरपाया। हालांकि मैच के 5वें दिन टीम गेंदबाज अपेक्षा के अनुरूप प्रदर्शन नहीं कर पाए और दक्षिण अफ्रीका ने जीत के करीब पहुंचकर मैच ड्रा करा दिया।
 
डरबन के किंग्समीड मैदान में दक्षिण अफ्रीका ने पिछले 5 सालों में कोई मैच नहीं जीता है और उसे लगातार 4 मैचों में करारी शिकस्त का सामना करना पड़ा है। यही बात टीम इंडिया को ऐतिहासिक जीत के लिए प्रेरित कर सकती है। भारतीय बल्लेबाजी का दारोमदार एक बार फिर पुजारा और विराट के कंधों पर रहेगा। इस जोड़ी को राहुल द्रविड़ और सचिन तेंदुलकर का विकल्प माना जा रहा है।
 
लेकिन दूसरे बल्लेबाजों को भी उनका भरपूर साथ देना होगा। ओपनर शिखर धवन, मुरली विजय, रोहित शर्मा और धोनी पिछले मैच में कुछ खास नहीं कर पाए थे लेकिन टीम को अगर दक्षिण अफ्रीका में इतिहास बनाना है तो इन बल्लेबाजों को अपने बल्ले का कमाल दिखाना होगा। विराट और पुजारा पर जरूरत से ज्यादा निर्भरता टीम के लिए घातक हो सकती है। 
 
भारत ने इस मैदान पर साल 2010 में अपने पिछले दौरे में यहां 87 रन से शानदार जीत हासिल की थी। तब बाएं हाथ के तेज गेंदबाज जहीर खान ने दोनों पारियों में 3-3 विकेट लिए थे और वह एक बार फिर उसी प्रदर्शन को दोहराना चाहते हैं। जहीर ने पिछले मैच में शानदार प्रदर्शन करते हुए पहली पारी में 4 और दूसरी पारी में एक विकेट लिया था। 
 
जहीर के साथ ईशांत और मोहम्मद शमी की पेस बैटरी पर एक बार फिर भारत के गेंदबाजी विभाग का दारोमदार रहेगा। आफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन पिछले मैच में 42 ओवर में कोई विकेट हासिल नहीं कर सके लेकिन किंग्समीड की पिच से उन्हें मदद मिलने की उम्मीद है। पिछले दौरे में आफ स्पिनर हरभजन सिंह ने दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी में 4 और दूसरी पारी में 2 विकेट लिए थे। हालांकि धोनी के पास लैफ्ट आर्म स्पिनर प्रज्ञान ओझा के रूप में विकल्प मौजूद हैं। दक्षिण अफ्रीकी कप्तान ग्रीम स्मिथ में इस मैदान पर अपनी टीम के रिकार्ड से वाकिफ हैं और इसे सुधारना चाहते हैं। उपकप्तान ए.बी. डीविलियर्स भी टीम की जीत को लेकर कोई वायदा नहीं करना चाहते।

विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You