सितारों की ‘चमक’ पर आखिर में लगा ‘ग्रहण’

  • सितारों की ‘चमक’ पर आखिर में लगा ‘ग्रहण’
You Are HereSports
Tuesday, December 31, 2013-1:53 PM

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट के युवा सितारे पूरे साल अपने प्रदर्शन की चमक से जगमगाते रहे लेकिन 2013 के आखिर में विदेशी जमीन की ‘प्रेतबाधा’ ने इस चमक पर ग्रहण लगा दिया। कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की अगुवाई में टीम इंडिया ने साल के 11 महीनों में टेस्ट और वन डे में शानदार प्रदर्शन किया। कई युवाओं ने अपनी प्रतिभा से अपनी पहचान बनाई लेकिन साल के आखिरी महीने में दक्षिण अफ्रीका दौरे ने फिर वही सवाल खडा कर दिया कि भारत विदेशी जमीन पर क्यों नहीं जीत पाता है।

भारत ने इस दौरे में वन डे और टेस्ट सीरीज दोनों गंवाई जिससे साल का अंत कुछ निराशा के साथ हुआ। इसके बावजूद दक्षिण अफ्रीका दौरे में कई खिलाडियों का प्रदर्शन ऐसा था जो भविष्य के लिए आश्वस्त करता है कि ये खिलाडी समय और अनुभव के साथ भारत को विदेशी जमीन पर उसी तरह सफलता दिलाने में कामयाब होंगे जो वह घरेलू जमीन पर हासिल करता है। दक्षिण अप्रीका दौरे को छोड दिया जाए तो 2013 भारतीय क्रिकेट के लिहाज से अच्छा साल रहा।

ऑस्ट्रेलिया जैसी टीम के खिलाफ 4.0 की ऐतिहासिक क्लीन स्वीप और लगातार छह एक दिवसीय सीरीज या टूर्नामेंट जीतना विशेष उपलब्धि कही जा सकती हैं। इन सबके बीच मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर का सन्यास और उन्हें देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘भारत रत्न’ दिए जाने की घोषणा भारतीय क्रिकेट के लिए स्वर्णाक्षरों में लिखे जाने वाले पल बन गए। भारत का 2013 में टेस्ट क्रिकेट में प्रदर्शन देखा जाए तो उसने इस साल कुल आठ टेस्ट खेले जिसमें उसने छह जीते और मात्र एक हारा।

भारत का 75.00 का सफलता प्रतिशत विश्व की नंबर एक टीम दक्षिण अफ्रीका के 77.77 के सफलता प्रतिशत से थोडा कम रहा। भारत ने इस दौरान ऑस्ट्रेलिया को 4.0 से और वेटस इंडीज को 2.0 से हराया। एक दिवसीय क्रिकेट में देखा जाए तो भारत ने 34 वन डे में 22 जीते और 10 हारे। वह 68.75 के सफलता प्रतिशत के साथ क्रिकेट खेलने वाले प्रमुख देशों में सबसे ऊपर रहा। भारत ने इस दौरान इंग्लैंड से घरेलू वन डे सीरीज, इंग्लैंड में चैम्पियंस ट्रॉफी, वेस्ट इंडीज में त्रिकोणीय टूर्नामेंट, जिम्बाब्वे में एक दिवसीय सीरीज, ऑस्ट्रेलिया में घरेलू सीरीज और वेस्ट इंडीज से घरेलू एक दिवसीय सीरीज जीती।

इंग्लैंड की जमीन पर आखिरी आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी जीतना धोनी और टीम इंडिया की बडी उपलब्धि थी। हालांकि भारत को साल में एक मात्र वन डे सीरीज पराजय दक्षिण अफ्रीका में मिली। भारत ने 2013 में मात्र एक टवंटी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेला जो उसने जीता।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You