भारत की निगाहें हाकी विश्व लीग फाइनल्स में शानदार प्रदर्शन पर

  • भारत की निगाहें हाकी विश्व लीग फाइनल्स में शानदार प्रदर्शन पर
You Are HereSports
Thursday, January 09, 2014-2:53 PM

नई दिल्ली: भारतीय टीम नए कोच टेरी वाल्श के मार्गदर्शन में कल यहां मेजर ध्यानचंद राष्ट्रीय स्टेडियम में शुरुआती हीरो हाकी विश्व लीग फाइनल्स में घरेलू मैदान पर शानदार प्रदर्शन करना चाहेगी, जिसमें टीम अपने अभियान की शुरुआत ऊंची रैंकिंग पर काबिज इंग्लैंड के खिलाफ करेगी। यह टूर्नामेंट भारत के लिए इस साल के अंत में हालैंड के हेग में होने वाले विश्व कप के लिए बढिय़ा तैयारी होगा। दुनिया की शीर्ष सात टीमें इसमें भाग लेंगी, भारतीय टीम के लिए विश्व कप की तैयारियों की इससे बेहतर तैयारी नहीं हो सकती थी।

 

भारत को खुद को भाग्यशाली मानना चाहिए कि वह हाकी विश्व लीग के फाइनल में भाग लेने वाली एक टीम है। टीम हालांकि सीधे क्वालीफाई करने में असफल रही लेकिन मेजबान देश होने के नाते वह इसमें स्थान बनाने में कामयाब रही। भारत को इस साल के अंत में प्रतिष्ठित चैम्पियंस ट्राफी की मेजबानी भी करनी है और खिलाडिय़ों के लिये इन मौकों का फायदा उठाने का अच्छा समय है।

 

हाकी विश्व लीग फाइनल सरदार सिंह की अगुवाई वाली टीम के पास दुनिया को यह दिखाने का मौका होगा कि भारतीय हाकी पुरानी प्रतिष्ठा हासिल करने की राह पर बढ़ रही एशिया कप में रजत पदक के अलावा भारत के लिये 2013 में कोई बेहतरीन प्रदर्शन नहीं रहा। भारतीय हाकी विश्व लीग के रोटरडम में सेमीफाइनल में निराशाजनक छठे स्थान पर रहे, लेकिन अब फाइनल में आठ बार की ओलंपिक चैम्पियन को कड़ी प्रतिद्वंद्वी जैसे जर्मनी, आस्ट्रेलिया और हालैंड को पछाडऩा होगा।

 

भारत पूल ए में मौजूदा ओलंपिक चैम्पियन और दुनिया की नंबर एक टीम जर्मनी, दुनिया की चौथे नंबर की इंग्लैंड और सातवीं रैंकिंग पर काबिज न्यूजीलैंड के साथ मौजूद है। पूल बी में आस्ट्रेलिया, हालैंड, बेल्जियम और अर्जेंटीना की टीमें शामिल हैं। इसलिए भारतीयों के लिए यह इतना आसान नहीं होगा, जो विश्व रैंकिंग में 10वें स्थान पर काबिज है। वाल्श के खिलाडिय़ों को अगर नाकआउट चरण में जगह बनानी है तो उन्हें बेहतरीन प्रदर्शन करना होगा। हमवतन माइकल नोब्स से नवंबर में टीम की जिम्मेदारी संभालने वाले वाल्श और उनके सहयोगी स्टाफ के लिये हाकी विश्व लीग फाइनल सही मायने में पहला परीक्षण होगा।

 

कुछ अहम खिलाडिय़ों के चोटिल होने के कारण भारत ने फाइनल में नई टीम उतारी है। फारवर्ड एस वी सुनील और युवराज वाल्मिकी ने चोटों और खराब फार्म के कारण एकल साल तक बाहर रहने के बाद वापसी की है। भारतीय टीम कल इंग्लैंड के खिलाफ जीत से शुरुआत करना चाहेगी, जिसके बाद उन्हें शनिवार को न्यूजीलैंड और रविवार को हालैंड से भिडऩा है। इंग्लैंड ने मलेशिया के जोहोर बारू में हाकी विश्व लीग सेमीफाइनल में तीसरे स्थान की बदौलत फाइनल के लिए क्वालीफाई किया। शुरुआती दिन अन्य मैचों में आस्ट्रेलिया का सामना बेल्जियम से, हालैंड की भिड़ंत अर्जेंटीना से तथा जर्मनी का सामना न्यूजीलैंड से होगा।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You