आवश्यक नहीं विदेशी कोच: अखिल

  • आवश्यक नहीं विदेशी कोच: अखिल
You Are HereSports
Tuesday, January 14, 2014-1:24 PM

वाराणसी: ओलम्पियन एवं अर्जुन पुरस्कार विजेता मुक्केबाज अखिल कुमार का मानना है कि जरूरी नहीं कि विदेशी कोच ही खेल को आगे बढा सकें। अगर ऐसा होता तो तमाम खेल बेहद ऊंचाई पर होते। काशी हिन्दू विश्वविद्यालय में सम्पन्न 60वें अखिल भारतीय अन्तर विश्वविद्यालय मुक्केबाजी प्रतियोगिता के समापन समाराह में पहुंचे अखिल ने कहा कि हॉकी को ही देखें तो पिछले कुछ सालों में तमाम कोच बदले गए लेकिन उससे हॉकी का कोई भला नहीं हुआ।

उन्होंने कहा कि अगर विदेशी कोच इतने योग्य हैं और उन्हें लाना इतना जरुरी है तो उन्हें जूनियर खिलाडियों को तैयार करने में लगाना चाहिए। वरिष्ठ खिलाडियों को सिर्फ लगातार अभ्यास की जरुरत होती है जो वे खुद करते हैं। भारतीय मुक्केबाजों के बारे में उन्होंने कहा कि हमारे देश के मुक्केबाजों में आत्मविश्वास की कमी है। उन्हें जरुरत के अनुसार तैयारी के लिए अधिक प्रतियोगिता में खेलने को नहीं मिलता।

अखिल ने कहा कि वह चोट से उबरकर जुलाई में स्काटलैंड के ग्लास्गो में होने वाले कामनवेल्थ गेम्स की तैयारी में जुट गए हैं। इस साल उन्हें एशियन गेम्स में भी हिस्सा लेना है। चोट के चलते काफी समय तक रिंग से दूर रहा मगर अब फिटनेश में सुधार हो रहा है। जल्द ही रिंग में नजर आऊंगा। अखिल ने बाबा विश्वनाथ का दर्शन पूजन किया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You