सेरेना की रिकार्ड जीत, उलटफेर से बीच ली ना

  • सेरेना की रिकार्ड जीत, उलटफेर से बीच ली ना
You Are HereSports
Friday, January 17, 2014-7:16 PM

मेलबर्न: सेरेना विलियम्स ने आस्ट्रेलियाई ओपन टेनिस टूर्नामेंट में आज 39 साल पुराने रिकार्ड को तोड़ा तथा मेलबर्न में भीषण गर्मी का गवाह बने एक और दिन चीन की ली ना के साथ मिलकर चौथे दौर में जगह बनाई। अमेरिका की पांच बार की चैंपियन सेरना ने मेलबर्न में तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से उपर चले जाने के बावजूद अपना विजय अभियान जारी रखा तथा डेनियला हांतुचोवा को सीधे सेटों में 6-3, 6-3 से हराया।

ली ना ने चेक गणराज्य की लूसी सैफरोवा के खिलाफ मैच प्वाइंट बचाकर लगातार दूसरे साल फाइनल में पहुंचने की अपनी उम्मीदें बरकरार रखी जबकि पुरूष वर्ग में तीसरी वरीयता प्राप्त डेविड फेरर ने जेरेमी चार्डी पर जीत दर्ज करके अपना दावा मजबूत किया। नारंगी रंग की कैप पहनकर खेलने उतरी सेरेना ने स्लोवेकिया की हांतुचोवा को केवल 80 मिनट में बाहर का रास्ता दिखाया। उनका अगला मुकाबला सर्बिया की अन्ना इवानोविच और आस्ट्रेलिया की सामंता स्टोसुर के बीच होने वाले मैच के विजेता से होगा।

सेरेना ने कहा, ‘‘बहुत गर्मी है लेकिन आपको खेलना तो पड़ेगा। आपको इसके लिये खुद को मानसिक रूप से तैयार करना होगा। मैं आगे बढ़कर उत्साहित हूं।’’ इस टूर्नामेंट में सेरेना की यह 61वीं जीत है। उन्होंने 11 बार की चैंपियन मारग्रेट कोर्ट के 1975 में बनाए गए रिकार्ड केा तोड़ा। सेरेना ने आस्ट्रेलियाई ओपन में 1998 में अपनी पहली जीत तब दर्ज की थी जब वह 16 साल की थी। सेरेना से पूछा गया कि उनकी सबसे अच्छी जीत कौन सी रही, उन्होंने सभी फाइनल मैच जिन्हें मैं जीतने में सफल रही।

ली ने भी सेरेना के  साथ अगले दौर में प्रवेश किया लेकिन इसके लिए उन्हें सैफरोवा के खिलाफ तीन सेट तक जूझना पड़ा। ली ने दूसरे सेट में मैच प्वाइंट बचाया और फिर टाईब्रेक में जीत दर्ज की। उन्होंने ढाई घंटे तक चले मैच में 1-6, 7-6 : 7-2 :, 6-3 से जीत दर्ज की। यह सैफरोवा पर उनकी सातवीं जीत है। ली ने मैच के बाद कहा, ‘‘शुरू में उसने बहुत अच्छा खेल दिखाया और तब लय हासिल करना मुश्किल था। मुझे खुशी है कि मैंने हार नहीं मानी और मैच जीतने में सफल रही। ’’

ली को क्वार्टर फाइनल में जगह बनाने के लिए रूस की 22वीं वरीय इकटेरिना मकरोवा से भिडऩा होगा जिन्होंने रोमानिया की मोनिका निकुलेस्कु को 6-4, 6-4 से हराया। इटली की फ्लेविया पेनेटा ने जर्मनी की मोना बार्थेल को 6-1, 7-5 से हराकर एक अन्य जर्मन खिलाड़ी और विश्व में नौवें नंबर की एंजलिक कारबेर से भिडऩे का हक पाया। कारबेर ने अमेरिका की एलिसन रिस्के को 6-3, 6-4 से पराजित किया। पुरूष वर्ग में स्पेन के सुपर फिट फेरर ने फिर से खुद को अभेद्य साबित करने की कोशिश की। उन्होंने फ्रांस के चार्डी को 6-2, 7-6, 6-2 से हराया। वह लगातार 15वीं बार ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट के चौथे दौर में पहुंचे हैं।

पिछले साल सेमीफाइनल में पहुंचे फेरर ने कहा, मुझे इस पर गर्व है। मैं पिछले चार या पांच साल से लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहा हूं और मुझे कुछ अच्छे परिणाम मिले हैं। फेरर का अगला मुकाबला जर्मनी के फ्लोरियन मेयर से होगा जिन्होंने पोलैंड के 20वीं वरीय जार्जी जानोविच को 7-5, 6-2, 6-2 से हराया। चेक गणराज्य के सातवीं वरीयता प्राप्त टामस बर्डिच भी दामिर दाजुमहर को 6-4, 6-2, 6-2 से हराकर चौथे दौर में पहुंच गए हैं।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You