'इशांत ने सीखना बंद कर दिया है'

  • 'इशांत ने सीखना बंद कर दिया है'
You Are HereSports
Thursday, January 23, 2014-6:33 PM

नई दिल्ली: भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी भले ही लगातार गलतियां कर रहे इशांत शर्मा पर विश्वास बनाए हुए हैं लेकिन उनके लचर प्रदर्शन की पूर्व खिलाडिय़ों ने कड़ी आलोचना की है और कहा कि अब सही समय आ गया है जबकि इस तेज गेंदबाज को बाहर कर देना चाहिए क्योंकि उन्होंने सीखना बंद कर दिया है। पूर्व खिलाडिय़ों ने कहा कि इशांत 50 से अधिक टेस्ट खेल चुका है और इस तरह का खराब प्रदर्शन आगे स्वीकार नहीं किया जाना चाहिए क्योंकि इससे टीम के प्रदर्शन पर प्रभाव पड़ता है।

पूर्व भारतीय तेज गेंदबाज मदनलाल और तेज गेंदबाजी कोच टी ए शेखर ने कहा कि वह बहुत अधिक गलतियां कर रहा है जिनमें सुधार की जरूरत है।  भारतीय टीम के पूर्व कोच और पूर्व राष्ट्रीय चयनकर्ता मदनलाल ने पीटीआई से कहा, मुझे नहीं पता कि ऐसा दबाव में हो रहा है या नहीं लेकिन इशांत ने सीखना बंद कर दिया है। वह अब बच्चा नहीं रहा। वह 50 से अधिक टेस्ट मैच खेल चुका है और उसे स्ट्राइक गेंदबाज और तेज आक्रमण का अगुआ होना चाहिए था। इशांत ने अब तक 53 टेस्ट मैचों में 149 विकेट लिये हैं और उनका स्ट्राइक रेट 69.7 प्रति विकेट है। उन्होंने प्रति विकेट के लिए लगभग 40 रन दिए हैं। उन्होंने अब तक 53 टेस्ट मैचों में केवल तीन बार पारी में पांच विकेट लिए हैं। वनडे में इशांत ने 72 वनडे में 102 विकेट लिये हैं और इकोनोमी रेट 5.72 रन प्रति ओवर है।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You