विश्व क्रिकेट के लिए भारत का मजबूत होना अच्छा: श्रीनिवासन

  • विश्व क्रिकेट के लिए भारत का मजबूत होना अच्छा: श्रीनिवासन
You Are HereSports
Wednesday, February 05, 2014-1:21 PM

नई दिल्ली: बीसीसीआई अध्यक्ष एन श्रीनिवासन ने आईसीसी के प्रशासनिक ढांचे में प्रस्तावित बदलाव को सही ठहराते हुए कहा कि विश्व क्रिकेट के लिए भारत का मजबूत होना अच्छा है। प्रस्ताव को सही ठहराते हुए श्रीनिवासन ने कहा कि यह आशंका सरासर निर्मूल है कि भारत को खेल पर अनुचित नियंत्रण मिल जाएगा। उन्होंने कहा, ‘‘बीसीसीआई आईसीसी से जुड़कर काफी खुश है। हम नए ढांचे में इस आईसीसी का स्वागत करेंगे जो समग्र रूप से क्रिकेट के लिए अच्छा होगा। बेहतरीन व्यावसायिक ढांचे के साथ मजबूत भारत विश्व क्रिकेट के लिए अच्छा है।’’

आलोचकों का मानना है कि आईसीसी के ढांचे में प्रस्तावित बदलाव खेल की कमान अपने हाथ में लेने की भारत की कोशिश है लेकिन श्रीनिवासन ने कहा कि राजस्व बांटने को लेकर पिछला सदस्य सहभागिता समझौता भारत के लिए उचित नहीं था लेकिन उन्होंने इसका ब्यौरा नहीं दिया कि कैसे। उन्होंने कहा, ‘‘मुझे नहीं पता कि इस पर हस्ताक्षर कैसे किए गए। मैं इस पर कभी दस्तखत नहीं करता। इसके कई नुकसान हैं। हमने साफ तौर पर कह दिया है कि मौजूदा प्रारूप में हम इस पर हस्ताक्षर नहीं कर सकते।’’

उन्होंने कहा, ‘‘समिति के बाकी सदस्यों को लगा कि भारत की चिंता जायज है और इसलिए इस पर बात हुई जिसमें ये प्रस्ताव निकले।’’ बदलाव से आईसीसी में निर्णय लेने में भारत, ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड की ताकत बढेगी लेकिन श्रीनिवासन ने कहा कि बाकी बोर्ड की आवाज भी दबेगी नहीं। श्रीनिवासन ने कहा, ‘‘जब हमारी नौ जनवरी को दुबई में मुलाकात हुई तब हमने कहा था कि हम यह सुझाव दे रहे हैं। यदि आपके पास कोई और सुझाव या मॉडल हो तो उसे सामने रख सकते हैं। किसी को बहस के लिए मसौदा तैयार करना होगा।’’

उन्होंने कहा, ‘‘दस में से तीन सदस्य साथ बैठे और एक मसौदा तैयार किया जिस पर गौर करके दूसरे सदस्य बदलाव का सुझाव दे सकते हैं। असल में तो कई बदलाव हुए भी हैं। काफी बातचीत हुई है और कई बिंदु हटाए भी गए और कुछ बदलाव भी किए गए।’’ उन्होंने कहा, ‘‘कोई वीटो नहीं है। पहले अध्यक्ष का कार्यकाल समाप्त होने के बाद कोई भी अध्यक्ष बन सकता है और दो अन्य सदस्य भी होंगे ही। सबसे अहम बात यह है कि आईसीसी की एक और समिति होगी जो आईसीसी बोर्ड को रिपोर्ट करेगी। आईसीसी बोर्ड सर्वोपरि होगा।’’ श्रीनिवासन ने फ्यूचर टूर्स कार्यक्रम खत्म करने और बोर्डों के साथ द्विपक्षीय करार करने के कदम को भी सही ठहराया।


विवाह प्रस्ताव की तलाश कर रहे हैं ? भारत मैट्रीमोनी में  निःशुल्क  रजिस्टर  करें !

Recommended For You